//]]>
---Third party advertisement---

'आप' के पंजाब में हिमाचलियों को नो एंट्री: और यहां केजरीवाल-भगवंत मान के स्वागत की तैयारी


शिमला। हिमाचल प्रदेश के पडोसी राज्य पंजाब में हाल ही में चुनाव संपन्न हुए हैं। जहां पर अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी ने एतिहासिक बहुमत हासिल करते हुए अपनी सरकार बनाई है। वहीं, 'आप' की इस जीत के बाद से ही उनपर इस तरह के आरोप लग रहे हैं कि इन इन लोगों ने यह जीत खालिस्तानी समर्थन और फंड के जरिए हासिल की है।


हिमाचल में घर बसाने की फिराक में आप वाले

वहीं, अब पंजाब में अपना घर बसाने के बाद आम आदमी पार्टी का अगला निशाना हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव हैं। पंजाब से सटा राज्य होने की वजह से 'आप' वाले इसे सॉफ्ट और ईजी टारगेट मान कर आगे बढ़ रहे हैं।

इस बीच खबर यह भी है कि आप के मुखिया और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल अपने शागिर्द और पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ आगामी 6 अप्रैल को हिमाचल के दौरे पर सीएम जयराम ठाकुर के गृह जिले मंडी आ रहे हैं। ये दोनों यहां पर रोड शो करेंगे, जिसे लेकर तैयारियों का दौर भी शुरू हो गया है।
वायरल हो रहे 'क्षेत्रवादी' वीडियो

अब आप सोच रहे होंगे कि इस सब से खबर के हेडर का क्या लेना देना है। दरअसल, इन दोनों नेताओं के स्वागत की तैयारियों के बीच सोशल मीडिया पर पंजाब का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग हिमाचल नंबर की गाड़ियों को पंजाब में एंट्री करने से रोक रहे हैं। वहीं, ये लोग वहां से गुजर रही अन्य गाड़ियों को बिना किसी रोक टोक के आने-जाने दे रहे हैं।

अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह से फैलने लगा है और हिमाचल के लोगों में इस बात को लेकर आक्रोश भी है। अब इसके बाद सवाल ये उठता है कि आखिरकार पंजाब के लोग ऐसा क्यों कर रहे हैं। इसका सीधा सा जवाब आपको हम देते हैं।
खालिस्तानी समर्थक क्यों कर रहे ऐसा

दरअसल, मार्च के इस महीने में पंजाब में रहने सिख समुदाय के लोग अपनी-अपनी गाड़ियों से हिमाचल समेत देश भर में स्थित अपने धर्म से जुड़े स्थलों की यात्रा के लिए निकलते हैं। इसी कड़ी में हिमाचल प्रदेश में स्थित प्रसिद्ध गुरुद्वारों (पांवटा साहिब, मणिकर्ण साहिब और अन्य) में मत्था टेकने की खातिर इन लोगों का बड़ा जत्था यहां आ रहा है।

अब परेशान करने वाली बात ये है कि इन लोगों की गाड़ियों पर कई जगह खालिस्तान के समर्थक और कई प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के झंडे लगे हुए हैं, जिसे हिमाचल प्रदेश पुलिस और स्थानीय लोग अपने स्तर पर कार्रवाई करते हुए उतरवा दे रहे हैं। अब इसी बात का बदला लेने के लिए पंजाब के खालिस्तान समर्थकों ने बॉर्डर पर यह पूरा तमाशा लगाया हुआ है। अब इस बारे में आपकी क्या राय है कमेंट कर के बताएं -

Post a Comment

0 Comments