//]]>
---Third party advertisement---

पुतिन ने दिया हमले का आदेश! यूक्रेन में घुसे रूसी टैंक, भारी तबाही से डरे लोग

 


वॉशिंगटन। अमेरिकी खुफिया विभाग के सूत्रों ने दावा किया है कि रूसी टैंक यूक्रेन की ओर बढ़ने लगे हैं। इन सूत्रों के अनुसार रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रूसी बलों को यूक्रेन पर हमले का आदेश दे दिया है और अब हमले की अंतिम योजना पर काम चल रहा है।

यूक्रेन सीमा की ओर बढ़ रहे टैंक
इस योजना के तहत रूस, मिसाइल और हवाई हमले से पहले साइबर हमले से शुरुआत करेगा और अंत में जमीनी टुकड़ियां यूक्रेन के शहरों पर कब्जा करेंगी। रूस की अग्रिम पंक्ति की सेना के वाहनों, टैंकों पर पेंट से जेड अक्षर बनाया गया है और ये टैंक यूक्रेन सीमा की ओर बढ़ते दिख रहे हैं।

ऐसे निशान युद्ध के दौरान मित्र और शत्रु की पहचान करने के लिए बनाए जाते हैं। यूक्रेनी विश्लेषकों का दावा है कि यूक्रेन के पास भी रूस की तरह के ही टैंक और वाहन हैं इसलिए अपनी ही सेना की गोलाबारी से बचने के लिए ये निशान बनाए गए हैं। वाहनों पर इस तरह के निशान बनाने की शुरुआत पहले खाड़ी युद्ध के दौरान अमेरिकी और ब्रिटिश सेनाओं ने की थी। तब उन्होंने एक दूसरे को निशाना बनाने से बचने के लिए वाहनों पर उलटा वी का निशान बना दिया था।

यूरोप में युद्ध की आशंका वास्तविक : हैरिस
इस बीच अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने कहा है कि यूरोप में युद्ध की आशंका वास्तविक है। उन्होंने यह भी कहा कि रूसी अतिक्रमण की स्थिति में अमेरिका रूस पर अब तक के कुछ सबसे बड़े प्रतिबंध लगाएगा।

रूस की किसी के भूभाग को कब्जा करने की कोई मंशा नहीं है : राजदूत
रूस और यूक्रेन के बीच गहराते युद्ध की आशंका के बीच अमेरिका स्थित रूसी राजदूत एनातोली एंतोनोव ने रविवार को कहा कि रूस की किसी अन्य देश की जमीन पर कब्जा करने की कोई योजना नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि रूस डोनबास क्षेत्र को यूक्रेन के हिस्से के रूप में देखता है। एंतोनोव ने कहा, मैं इस बात की पुष्टि करता हूं कि डोनबास और लुहांस्क यूक्रेन का ही हिस्सा हैं, जिसको लेकर विवाद चल रहा है।

अमेरिका ने रूस पर प्रतिबंध लगाने से किया इनकार
कीव और घरेलू प्रतिद्वंद्वियों की बढ़ती आलोचना के बावजूद यूक्रेन पर व्यापक रूप से प्रतीक्षित रूसी आक्रमण से पहले अमेरिका ने रविवार को रूस पर प्रतिबंध लगाने से इनकार कर दिया।

युद्ध को टालने का आह्वान
यूक्रेन और रूस ने युद्ध को टालने के लिए गहन राजनयिक प्रयासों का आह्वान किया। दोनों देशों ने मास्को समर्थित अलगाववादियों से कीव की सेना को अलग करने वाली अग्रिम पंक्ति पर गोलाबारी में तेज वृद्धि के लिए एक-दूसरे को दोषी ठहराया। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba,Agra Ahmedabad Ajmer Aligarh Allahabad Ambala Amethi Amritsar Araria Aurangabad Baliya Badaun Bareilly Bathinda Bhagalpur Bhiwani Bikaner Bulandshahr Buxar Chhapra Chhindwara Chittorgarh Darbhanga Delhi Dhanbad Etawah Faridabad Gandhinagar Ghaziabad दरभंगा, पटना, लखनऊ, अहमदाबाद, नागपुर, भोजपुर, भागलपुर, गोपालगंज, कानपुर, नालंदा, मधुबनी, अरवल, मुजफ्फरपुर, बक्सर, सारण, अररिया, जहानाबाद, दिल्ली, वाराणसी, मुंबई, नागपुर, मधुबनी, कोलकाता, #दरभंगा, #पटना, #लखनऊ, #अहमदाबाद, #नागपुर, #भोजपुर, #भागलपुर, #गोपालगंज, #कानपुर, #नालंदा, #मधुबनी, #अरवल, #मुजफ्फरपुर, #बक्सर, #सारण, #अररिया, #जहानाबाद, #दिल्ली, #वाराणसी, #मुंबई, #नागपुर, #मधुबनी, #कोलकाता,

Post a Comment

0 Comments