//]]>
---Third party advertisement---

बिहार के पढ़े-लिखे लड़कों को नौकरी देगी टाटा, नीतीश सरकार ने किया करार, अच्छी खासी होगी सैली

 

PATNA- हर साल हजारों युवाओं को मिलेगी नौकरी, सरकार ने टाटा टेक्नोलॉजी से किया करार : बिहार के युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए नीतीश सरकार ने टाटा टेक्नोलॉजी के साथ करार किया है। इसके तहत राज्य सरकार औद्योगिक प्रशिक्षक संस्थान (आईटीआई) को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाएगी। आईटीआई में छह नए कोर्स शुरू किए जाएंगे। अगले साल से इन कोर्सों की शुरुआत होगी, जो नई एडवांस टेक्नोलॉजी पर आधारित होंगे।


छह नए कोर्स रोजगारपरक होंगे। बताया जा रहा है कि कोर्सों में आर्क वेल्डिंग, औद्योगिक रोबोटिक्स, इलेक्ट्रिक वाहन प्रशिक्षण, आईओटी, डिजिटल इंस्ट्रूमेंशन, मशीनिंग व विनिर्माण एडवाइजर, आईटी एवं डिजाइन शामिल हैं। श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार मिश्रा ने बताया कि सूबे के युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए सरकार हर दिन प्रयास कर रही है। अब सरकार आईटीआई को अपग्रेड करने वाली है। मंत्री के मुताबिक आईटीआई छात्रों को एडवांस टेक्नोलॉजी की ट्रेनिंग मिलेगी। छात्रों को मशीन लर्निंग, इंटरनेट ऑफि थिंग्स, ग्राफिक डिजाइन आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यहां ऑनलाइन ट्रेनिंग के साथ फिजिकल ट्रेनिंग भी छात्र ले सकेंगे।

टाटा टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराएगा आधुनिक मशीनें
श्रम संसाधन मंत्री ने बताया कि टाटा टेक्नोलॉजी ट्रेनर सभी आईआईटी को निर्देशित करेंगे। नए अपग्रेड टूल्स मशीनरी एवं सिलेबस बनने में सहयोग करेगी। इसके अलावा आईटीआई की देखरेख, प्रबंधन और संचालन के लिए प्रबंध समितियों को गठन अनिवार्य किया गया है। कहा कि 10वीं पास युवा आईआईटी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। यह क्षेत्र रोजगार के नजरिए से काफी बेहतर होने वाला है। गौरतलब है कि सरकारी आईआईटी कॉलेज में हर साल संयुक्त परीक्षा के तहत दाखिला होता है। बिहार राज्य संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद यह प्रवेश परीक्षा आयोजित कराता है। आईटीआई कोर्स पूरा कर लेने के बाद सरकारी और निजी क्षेत्र में कई नौकरियां मिलती हैं। ज्यादातर युवा रेलवे में नौकरी के लिए प्रयास करते है। बिजली विभाग में भी नौकरी करते हैं। वहीं निजी कंपनियों में रोजगार मिलता है। मंत्री जीवेश कुमार ने कहा कि छात्र नौकरी नहीं करना चाहते हैं तो इस प्रशिक्षण के बाद वह अपना कामकाज भी कर सकते हैं। यह ट्रेनिंग उन्हें इतना काबिल बना देगी कि उन्हें आत्मनिर्भर बनने में दिक्कत नहीं होगी। यह भी कहा कि आने वाले दिनों में सूबे में कई कल-कारखाने, प्लांट शुरू हो रहे हैं, जहां इन छात्रों को प्राथमिकता के तौर पर नौकरी मिल जाएगी। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Post a Comment

0 Comments