//]]>
---Third party advertisement---

राकेश टिकैत की भाजपा से हो गई है सेटिंग! इसके चलते ही यूपी में…

 


नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत ने दिवाली के अवसर पर किसानों से अपील की है कि वो दो दीया उन किसानों की याद में भी जला दें जो लंबे समय से चले आ रहे आंदोलन में शहीद हुए है। किसान आंदोलन को एक साल पूरे होने को आए हैं लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की तीन कृषि कानूनों को लेकर अभी तक सरकार और किसानों के बीच कोई सहमति नहीं बन पाई है। राकेश टिकैत लगातार कहते आए हैं कि जब तक कानून वापस नहीं होंगे किसान घर नहीं जाएंगे।

इसी मुद्दे पर नवभारत टाइम्स ऑनलाइन के डिबेट शो, ‘न्यूज़ की पाठशाला’ में राकेश टिकैत ने कहा कि वो दिवाली भी दिल्ली के बॉर्डर पर ही मनाएंगे। शो के एंकर सुशांत सिन्हा ने उनसे शो में पूछा, ‘लखीपुर खीरी मामले में आपकी भाजपा से सेटिंग हो गई थी, जिसके चलते ही आपने समझौता कराया था, जब किसानों पर जानबूझकर गाडी चढाई तो आपने सरकार के आगे झुककर समझौता क्यों कराया। इसके जवाब में राकेश टिकैत ने कहा कि योगी सरकार ने वहां अफसरों को पावर देकर भेजा था जिससे समझौता हो गया। किसान कानूनों के लिये मोदी सरकार कृषि मंत्री को पावर दे तो समझौता हो जायेगा।

टिकैत के जवाब पर सुशांत सिन्हा ने फिर सवाल किया, ‘फिर देश के प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि आप आइए और बात कर लीजिए। आपके पास संसद के बाहर मंडी लगाने की फुर्सत है, जाकर बात करने की फुर्सत नहीं है।’

राकेश टिकैत ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘नहीं, नहीं आप बात करा दो, आप बन जाओ हमारे बिचौलिए।’ जब सुशांत सिन्हा उनकी बातों के बीच में ही बोलने लगे तब टिकैत ने कहा, ‘पूरी बात मत बोलने दो, आप भी बीच में बात काटो।’

सुशांत सिन्हा कह रहे थे, ‘आप देश में घूम-घूम कर बीजेपी को वोट मत दो, कह सकते हैं। जाकर कृषि मंत्री से बात नहीं कर सकते? आप जाइए और बैठ जाइए वहां।’ उनकी इस बात पर नाराज राकेश टिकैत ने कहा, ‘आप बीजेपी की तरफ से हो या प्रेस की तरफ से हो? ये बीजेपी वाली भाषा बोल रहे हो।’

जब एंकर ने कहा कि वो किसानों की तरफ से हैं तब टिकैत ने जवाब दिया, ‘फिर सुन लो, वो कहते हैं कि कानून वापसी पर कोई बात नहीं होगी। संशोधन पर कोई बात करनी हो तो धरना ख़त्म करके बातचीत कर लो। अब बताओ, मतलब कानून तो वापसी होगा नहीं। किताब में उन्होंने लिख लिया और किसान तो जाकर वहां साइन कर आए। तो ऐसा तो देश में नहीं होगा। हम साइन करने नहीं जाएंगे। देश का किसान न कमज़ोर था, है और न रहेगा।’ 
  • यहां महिलाएं मुंह की बजाय गुप्तांग में दबाती है तंबाकू, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश
  • Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, Himachal, Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Post a Comment

0 Comments