//]]>
---Third party advertisement---

राजस्थान में ब्लैक फंगस फैला रहा तबाही, कई राज्यों में सामने आए केस, महामारी घोषित, यूपी, दिल्ली, राजस्थान हर जगह आए मामले

 कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश में बीते करीब दो महीने से तबाही मचाई हुई है. अब जाकर कोरोना के नए आंकड़ों में कमी देखी जा रही है, तो दूसरी लहर से राहत मिलने के आसार दिखाई पड़ रहे हैं. लेकिन इस राहत के बीच एक आफत भी सामने आई है.


कोरोना संक्रमितों में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों ने सरकारों को सचेत कर दिया है. देश के दर्जनभर राज्य में इस बीमारी का कहर बरप रहा है, राजस्थान ने तो इसे महामारी घोषित कर दिया है.

ब्लैक फंगस ने महाराष्ट्र में बरपाया कहर
कोरोना के कारण सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र रहा, अब वहां हालात सुधर रहे हैं. लेकिन ब्लैक फंगस ने फिर डरा दिया है, राज्य में ब्लैक फंगस के कारण करीब 90 लोगों की मौत हो गई. जबकि डेढ़ हज़ार से अधिक ऐसे मामले दर्ज किए गए हैं. महाराष्ट्र के नासिक में ही करीब 150 केस सामने आए हैं, जिसमें से 10-15 फीसदी मरीज़ों की जान चली गई है.

डॉक्टरों का कहना है कि ब्लैक फंगस के शिकार मरीजों की अधिक मौत का कारण बीमारी के बारे में देरी से पता चलना है, साथ ही इंजेक्शन (Amphotericin B) की कमी भी एक कारण है. राज्य सरकार ने बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र से राज्य में सप्लाई बढ़ाने को कहा है.


यूपी, दिल्ली, राजस्थान हर जगह आए मामले
ऐसा नहीं है कि ब्लैक फंगस सिर्फ महाराष्ट्र में है, बल्कि देश के अलग-अलग राज्यों में मामले दर्ज किए गए हैं. यूपी के लखनऊ में ब्लैक फंगस के 50 केस सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हो गई है. मेरठ में भी 42 केस आए हैं और 3 लोगों की मौत हो गई. यूपी के ही अलीगढ़ में दो केस सामने आए हैं जो दर्शाते हैं कि छोटे शहरों में भी इस बीमारी का असर है.

राजधानी दिल्ली के मूलचंद अस्पताल में ब्लैक फंगस के कारण एक मरीज़ की मौत हुई है, जबकि मैक्स, एम्स और सरगंगाराम अस्पताल में दर्जनों केस दर्ज किए गए हैं. राजस्थान के भिवानी में भी दस मामले सामने आए हैं, राजस्थान में पहले भी जयपुर और अन्य कुछ जिलों में केस दर्ज किए गए थे.

राजस्थान में बढ़ते मामलों का ही असर है कि राज्य सरकार ने इस बीमारी को भी महामारी घोषित कर दिया है. जबकि तेलंगाना सरकार ने भी इस बीमारी को लेकर नोटिफिकेशन जारी किया है, अब राज्य में आने वाले हर केस की जानकारी देनी होगी और सतर्कता बरतनी होगी.

बता दें कि कोरोना मरीज़ों में इस बीमारी के लक्षण दिख रहे हैं, इस बीमारी के कारण आंखों की रोशनी तक चली जा रही है. 

Post a Comment

0 Comments