//]]>
---Third party advertisement---

रामस्वरूप के सपने करेंगे पूरे, दिवंगत सांसद को अंतिम श्रद्धांजलि देते हुए बोले सीएम

 

संसदीय क्षेत्र मंडी से दो बार भाजपा सांसद रहे रामस्वरूप शर्मा के यूं निधन से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर काफी व्यथित और उदास दिखे। गुरुवार को स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा के अंतिम संस्कार में पहुंचकर मुख्यमंत्री ने उन्हें अंतिम विदाई दी। इस दौरान मुख्यमंत्री काफी भावुक व पीड़ा में नजर आए। मुख्यमंत्री सांसद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और मच्छयाल स्थित श्मशान घाट पर उन्हें नम आंखों से श्रद्धाजंलि दी। यहां पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि रामस्वरूप का चले जाना हम सब के लिए बड़ा सदमा है। रामस्वरूप शर्मा की संदिग्ध मौत की सीबीआई व प्रदेश की किसी एंजेसी से जांच करवाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जांच की दृष्टि से दिल्ली में पहले ही मामला दर्ज है। जांच की प्रकिया वहां चली हुई है।

 इससे ज्यादा कुछ कहना अभी सही नहीं है। परिवार के सदस्यों से बात करने के बाद ही जांच के विषय पर सोचा जा सकता है। वह इस विषय पर परिजनों से पहले बात करेंगे, लेकिन उसके बाद भी जो घटना हुई है, उसे लेकर दिल्ली पुलिस जांच कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सब लोगों के लिए यह बहुत बड़ा सदमा है। पार्टी व समाज के लिए समर्पित भाव से रामस्वरूप शर्मा काम करने वाले व्यक्ति थे। संसदीय क्षेत्र से सबसे बडे़ अंतर से जीतने वाले व्यक्ति थे। कार्यकर्ता के नाते पार्टी के अंदर उनका एक अलग स्थान था। सहजता, सरलता, लोगों से मिलना, कार्यकर्त्ताओं के लिए काम करना और लोकसभा क्षेत्र की समस्याओं को उठाना उनके व्यवहार में शामिल था। रामस्वरूप के सपनों को साकार करने के लिए हम प्रयास करेंगे।

 संसदीय क्षेत्र के लिए उनके जो मुद्दे थे, जिन्हें लेकर वह सक्रिय होकर बात करते थे, उन्हें पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने सांसद रामस्वरूप शर्मा की असामयिक मृत्यु को न केवल मंडी संसदीय क्षेत्र, बल्कि हिमाचल प्रदेश तथा भारतीय जनता पार्टी के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए कहा कि रामस्वरूप शर्मा को उनके विनम्र स्वभाव, सरल व्यक्तित्व तथा कर्त्तव्यनिष्ठा के लिए सदैव याद किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इसके बाद स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा के घर जलपेहड़ जाकर परिवार के सदस्यों के साथ गहरी संवेदनाएं व्यक्त की। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और परिजनों को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की। उन्होंने स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा के तीनों बेटों व पत्नी को ढांढस भी बंधाया और उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार सांसद के सपनों को पूरा करेगी।

Post a comment

0 Comments