//]]>
---Third party advertisement---

पौंग डैम से छोड़े पानी से ब्यास दरिया में आई बाढ़, सैंकड़ों भेड़-बकरियों सहित 2 भेड़पालक फंसे



इन्दौरा के मंड क्षेत्र में करीब 400 से 500 भेड़-बकरियां और 2 भेड़पालक ब्यास दरिया में डैम से अचानक छोड़े गए पानी में फंस गए। मौके पर एनडीआरएफ की टीम और इन्दौरा पुलिस व प्रशासन ने कड़ी मशक्कत के बाद ब्यास दरिया के बीचोंबीच बने टापू से देर रात्रि दोनों भेेड़पालकों को सुरक्षित बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की, वहीं सैंकड़ों भेेड़-बकरियां अभी भी ब्यास दरिया में फंसी हुई हैं, जिनको बाहर निकालने की भरसक कोशिश प्रशासन द्वारा की जा रही है।

थाना इन्दौरा के तहत टांडा पत्तन ब्यास दरिया पर बने पुल के नजदीक चम्बा से आए 2 भेेड़पालक दरिया के बीचोंबीच बने एक टापू पर भेड़-बकरियों को चराने के लिए ले गए लेकिन डैम से अचानक छोड़े गए पानी के कारण दरिया में बाढ़ आ गई और भेेड़पालक भेेड़ -बकरियों सहित फंस गए जबकि उनके एक अन्य साथी, जोकि दरिया के किनारे अपने साथियों का इंतजार कर रहा था, उसने अपने साथियों को बचाने के लिए शोर मचाना शुरू कर दिया व स्थानीय लोगों को इसकी जानकारी दी। वहीं इसकी सूचना इन्दौरा पुलिस थाना को दी गई, जिसके चलते इन्दौरा पुलिस के थाना प्रभारी सुरिंद्र धीमान टीम सहित मौके पर पहुंचे और इसकी जानकारी इन्दौरा के एसडीएम सौमिल गौतम को दी।

एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर नूरपुर में तैनात एनडीआरएफ की टीम को सूचित कर मौके पर बुलाया। एसडीएम ने पौंग डैम के अधिकारियों से सम्पर्क साध ब्यास दरिया में बहते पानी को बंद करवाया, उसके बाद एनडीआरएफ की टीम ने देर रात्रि तक कड़ी मशक्कत के बाद दोनों भेेड़पालकों को सुरक्षित बाहर निकाला जबकि सैंकड़ों के हिसाब से फंसी भेेड़-बकरियों को बाहर निकालने के लिए देर रात्रि तक बचाव कार्य चलता रहा। एसडीएम इन्दौर ने कहा कि पौंग डैम से पानी छोड़े जाने के कारण ब्यास दरिया में भेेड़-बकरियां चरा रहे 2 भेेड़पालकों को एनडीआरएफ की टीम ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया है जबकि सैंकड़ों भेेड़-बकरियों को बचाने के लिए बचाव कार्य चल रहा है।

Post a comment

0 Comments