---Third party advertisement---

पड़ोसी देशों के लिए आगे आया भारत, इनको देगा वैक्सीन कीट, यहां देखे लिस्ट:



 कोरोना वायरस से जहां सभी देश लड़ रहे है। दिन ब दिन कोरोना मरीजों कि संख्या बढ़ती जा रही है। कोरोना से लड़ने के लिए सभी देशों के सरकार ने अपना-अपना पैंतरा अपनाया है आप को बता दें कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए भारत में वैक्सीन तैयार कर लिया गया है। अब वैक्सीन का टीकाकरण भी होने लगा है। वैक्सीन का टीकाकरण साल के पहले ही सत्र से शुरू कर दिया गया है। अब तक भारत में तकरीबन 3 लाख 81 हज़ार से ज़्यादा लोगों को कोरोना का टीका लग चुका हैं। भारत सरकार ने अपने वैक्सीन कीट को धीरें-धीरें अन्य देशों को भी मुहैया कराया जा रहा है। आइए जानते है कौन-कौन सा देश शामिल है…

भारत ने इन देशों को दिया पहले टीका
अफगानिस्तान,बांग्लादेश,सेशेल्स, बारबाडोस, डोमिनिका, मॉरीशस, मोरक्को, मालदीव, श्रीलंका, बहरीन भूटान, अल्जीरिया, कुवैत, ब्राज़ील, नेपाल, मिस्त्र, ओमान इन सभी देशो को भारत द्वारा निर्मित वैक्सीन को दिया जाएगा। ये पहला देश है जिसे भारत ने सबसे पहले COVID-19 का वैक्सीन टीका दिया है।

पड़ोसी मुल्कों को पहले मुहैया कराया गया वैक्सीन
भारत अपने पड़ोसी देश भूटान और मालदीव को सबसे पहले कोरोना वैक्सीन मुहैया कराया है। COVID-19 टीके पाने वाला यह दोनो देश पहला है। बताया जा रहा है कि सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित कोविशिल्ड वैक्सीन की 1,50,000 खुराक भूटान को भेजी दी गई है। जहां मालदीव को 1,00,000 कोविशिल्ड वैक्सीन भेज दिया गया।

कोरोनावायरस टीकाकरण अभियान
भारत ने पहले ही बड़े पैमाने पर Corona virus vaccination campaign शुरू कर दिया है, जिसमें दो टीके, कोविशिल्ड और कोवाक्सिन को पूरे देश में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को लगाने का कार्य जारी कर दिया गया है। आपको बता दें कि भारत देश कोरोनाकाल में अपने पड़ोसी देश को कोरोना से लड़ने के लिए पेरासिटामोल की गोलियां, डायग्नोस्टिक किट, वेंटिलेटर, मास्क, दस्ताने आदि दिया, ताकि देश कोरोना वायरस से निपटने में सक्षम रहे। बताते चले कि यह खबर अपने ट्विटर अकाउंट पर एरिक सोल्हेम ने पोस्ट किया है। जिसमें विदेश मंत्री एस जयशंकर ने फोटो क्लिक कराया है।

Post a comment

0 Comments