//]]>
---Third party advertisement---

रेहड़ी फहड़ी मामले ने पकड़ा तूल, सैकड़ों महिलाओं ने किया धरना प्रदर्शन



पधर बाजार में रेहड़ी फहड़ी लगा परिवार की आजीविका चला रहे खोखाधरकों के साथ प्रशासन के दुर्व्यवहार का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बता दें कि रेहड़ी फहड़ी संचालकों ने मामले को लेकर बीते वीरवार को जिला परिषद सदस्य रविकांत की अगुवाई में एसडीएम कार्यलय के बाहर धरना प्रदर्शन किया था। वहीं शुक्रवार को सैकड़ों मजदूरों ने जिला परिषद सदस्य रविकांत की अगुवाई में बाजार में रोष रैली निकाली।

रैली बाजार से होते हुए एसडीएम कार्यलय पहुंची। जहां मजदूरों की मांगों के साथ साथ प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा रेहड़ी संचालकों के साथ दुर्व्यवहार को लेकर जोरदार विरोध प्रर्दशन किया। ज़िला परिषद् सदस्य रविकांत ने कहा की वीरवार को रेहड़ी वालों कि मांगों को लेकर एसडीएम सेे

वार्ता करने कार्यलय पहुंचे। लेकिन कार्यलय आने से रोका गया। जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि के साथ इस तरह का व्यवहार करना बेहद शर्मनाक कृत्य है।

उन्होंने आरोप लगाया कि तहसीलदार पधर ने भी रेहड़ी लगा कर परिवार की आजीविका चला रही एक महिला दुकानदार के साथ सही बर्ताव नही किया। इस मामले को लेकर भविष्य में आंदोलन किया जाएगा। इसके लिए रणनीति भी बनाई गई।

जिसके लिए एक कमेटी का गठन भी किया गया। जिसमे मीना कुमारी को प्रधान, अनुराधा को सचिव अच्छर सिंह को उप प्रधान, रक्षा देवी को सहसचिव और बबली देवी को कोषाध्यक्ष चुना गया।इस अवसर पर रेहड़ी यूनियन की उप प्रधान अंजना शर्मा ने तहसील के अधिकारी पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया।

उधर, तहसीलदार पधर हरि सिंह यादव ने कहा कि रेहड़ी फहड़ी धारकों ने पधर बाजार में स्थायी तौर पर रेहड़ियां लगा रखी है। जिससे बस स्टैंड के समीप राहगीरों और यात्रियों को मुश्किल का सामना करना पड़ता है। रेहड़ी फहड़ी धारकों को चलती फिरती रेहड़ी चलाने को कहा गया है। जबकि लगाए गए आरोप पूरी तरह निराधार हैं।

रेहड़ी फहड़ी धारक अपनी मनमानी करेंगे तो प्रशासनिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। फोटोशीर्षक-जिला परिषद सदस्य रविकांत की अगुवाई में रेहड़ी फहड़ी संचालकों के समर्थन में रैली निकालते महिला मंडल की महिलाएं और मजदूर।


Post a comment

0 Comments