---Third party advertisement---

वीडियो कॉल बनी हादसे का कारण, दोस्त को बचाने में दूसरे दोस्त ने गंवाई जान



सुंदरनगर स्थित प्राइवेट आईटीआई में एक छात्र की मौत मामले में मौके के चश्मदीद एक अन्य छात्र उमेश कुमार ने बयान दिया है कि इस घटना में दोस्त को बचाने में दूसरे दोस्त को अपनी जान गंवानी पड़ी। आईटीआई प्रथम वर्ष के तीनों छात्र उमेश कुमार, अजय और जितेंद्र ठाकुर ने कभी सोचा नहीं था कि उस दिन एक फोन कॉल किस तरह से इनकी जिंदगी में काल बनकर आएगी। उमेश कुमार पुत्र प्रेम लाल निवासी तहसील सुन्नी जिला शिमला द्वारा दिए गए बयानों के अनुसार 5 फरवरी को आईटीआई में जब वे तीनों धूप सेंकने के लिए छत पर गए तो अजय को वीडियो कॉल आई, जिसे सुनने के लिए वह छत में इधर-उधर घूमने लगा।

इस दौरान जितेंद्र और उमेश छत पर ही तस्वीरें खींचने लगे तथा अजय वीडियो कॉल में व्यस्त हो गया। इस दौरान छत पर 2-3 फुट की ईंटों की रोक को पार करते हुए अजय बिजली की तारों के पास पहुंच गया, जिससे उसे झटका लगा और वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद अजय ने मदद के लिए पुकारा तभी जितेंद्र एकदम से आगे बढ़ा। उमेश ने बताया कि बिजली की तारें और ईंटों की रोक साफ तौर पर दिखाई देने के चलते मैंने जितेंद्र ठाकुर को रुकने के लिए भी कहा लेकिन उसने मेरी बात नहीं सुनी और अजय को बचाने के लिए दौड़ पड़ा तथा इस दौरान जितेंद्र बिजली की तारों की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

इस घटनाक्रम से घबराकर वह नीचे भाग आया। अजय का मंडी अस्पताल में उपचार चल रहा है। उधर, मामले में पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए आईटीआई प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच बैठा दी है लेकिन इस घटना में सभी बयानों के अनुसार और चश्मदीद द्वारा बताए गए घटनाक्रम को देखते हुए यह बात सामने आई है कि किस तरह से मोबाइल में व्यस्त होकर हम बड़ी घटना का शिकार हो जाते हैं।

यह पहली बार नहीं हुआ है जब मोबाइल किसी बड़ी घटना का कारण बना हो। आंकड़े बताते हैं कि ङ्क्षहदुस्तान में हर वर्ष लाखों की संख्या में लोग मोबाइल के कारण घटना का शिकार होते हैं। फिर चाहे वे मोबाइल की वजह से सड़क पर होने वाले हादसे हों या फिर इस तरह की सुंदरनगर वाली घटना हो। आज मोबाइल कितना घातक हो गया है कि सार्वजनिक और अन्य स्थानों पर जगह-जगह मोबाइल के दुरुपयोग से बचने के लिए संदेश लिखा होता है, लिहाजा हम सबको चाहिए कि इस ओर ध्यान दें और इस प्रकार की घटनाओं से बचें।

Post a comment

0 Comments