---Third party advertisement---

डल्हौजी में मिला मादा भालू का शव, विभाग ने लोगों से की ये अपील



नगर परिषद डलहौजी के वार्ड नंबर-एक बकरोटा के समीप वन क्षेत्र में एक मादा भालू का शव मिला है। पशुपालन विभाग ने बुधवार को शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे जला दिया। जानकारी के मुताबिक देर शाम जब बकरोटा वार्ड की ओर नगर परिषद के वन रक्षकों की टीम गश्त पर थी तो उन्होंने बकरोटा व सुभाष बावड़ी के बीच स्थित वन क्षेत्र में एक मादा भालू का शव देखा। वनरक्षकों ने वन विभाग को इस संबंध में सूचना दी। वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की। मृत मादा भालू की उम्र दो से तीन वर्ष के बीच आंकी गई।

बताया जा रहा है कि भालू का एक पैर भी नहीं था। शव से दुर्गध आने से आंका जा रहा है कि शव 5 से 7 दिन पुराना था। प्रारंभिक जांच में यह भी पाया जा रहा है कि भालू ने कचरे में फैंके किसी जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया होगा अथवा सड़ा हुआ खाना खा लिया होगा, जिससे उसकी मौत हो गई। मौत के सही कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चल पाएगा। डल्हौजी में कुछ माह से भालुओं व अन्य वन्य प्राणियों की गतिविधियां काफी बढ़ गई हैं। कुछ दिन पहले भालू ने डल्हौजी शहर के पोट्रियन रोड पर एक कुली पर हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया था।

उधर, वन मंडल अधिकारी डल्हौजी कमल भारती ने बताया कि डल्हौजी शहर के आसपास काफी बड़ा वन क्षेत्र है। खाने की तलाश में भालू रिहायशी इलाकों की तरफ पहुंच जाते हैं। बकरोटा में भी जिस भालू का शव मिला है, वह खाने की तलाश में ही यहां पहुंचा होगा। उसने शायद किसी जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया होगा, जिससे उसकी मौत हो गई। लोगों से अपील है कि वे शाम ढलने के बाद वन क्षेत्र व सुनसान इलाकों की ओर अकेले न जाएं।

Post a comment

0 Comments