---Third party advertisement---

उम्र कम थी, हौंसला बुलंद था, कम उम्र में ही बन गए ये प्रधान



हिमाचल प्रदेश में पंचायत चुनाव 2021 का पहला चरण हो चुका है और दूसरे चरण के लिए 19 जनवरी को वोटिंग हो रही है। पहले चरण में युवा चेहरे चुनकर आ रहे हैं। पिछले पंचायत चुनाव में मंडी जिला के सराज क्षेत्र के तहत आने वाली ग्राम पंचायत थरजून से 22 वर्षीय जबना चौहान चुनकर आई थी। जबना चौहान को उस वक्त देश की सबसे युवा सरपंच होने का खिताब मिला था। 

लेकिन अब जबना के इस रिकार्ड को सराज क्षेत्र के तहत आने वाली कल्हणी पंचायत की निवासी खीरामणी ने तोड़ दिया है। खीरामणी 21 साल 10 महीने की उम्र में बतौर सरपंच चुनकर आई हैं। अभी तब खीरामणी को सबसे युवा सरपंच होने तमगा मिल रहा है। खीरामणी की जन्म तिथि 12 मार्च 1999 है। इस हिसाब से खीरामणी की वर्तमान आयु 21 वर्ष 10 महीने बनती है। 

खीरामणी मूलतः सराज क्षेत्र के तहत आने वाली दुर्गम पंचायत कल्हणी के थाच गांव की रहने वाली हैं। दो वर्ष पूर्व खीरामणी की शादी इसी पंचायत के मुकेश कुमार के साथ हुई थी। खीरामणी ने बातचीत में बताया कि उन्हें इस बात का गर्व है कि पंचायत के लोगों ने एक युवा उम्मीदवार पर अपना भरोसा जताया है। उन्होंने पंचायत के सर्वांगिण विकास की बात दोहराई है। बता दें कि कल्हणी पंचायत इस बार महिलाओं के लिए आरक्षित हुई थी.खीरामणी ने भी बतौर उम्मीदवार अपना नामांकन भरा था। उनके साथ दो अन्य महिलाएं मैदान में थी। खीरामणी को जयवंती ठाकुर ने कड़ी टक्कर दी। जयवंती को 553 वोट मिले जबकि खीरामणी को 578 वोट मिले और इस तरह से खीरामणी ने 25 वोटों से जीत दर्ज की है।

आशीष 21 वर्ष की उम्र में उपप्रधान



ऊना जिले के डूहल भटवालां के धलवाड़ी गांव के युवा आशीष शर्मा का है। आशीष 21 वर्ष की उम्र में उपप्रधान बने हैं। पंचायत चुनाव में उपप्रधान पद के लिए तीन वोटों से जीत दर्ज की है। आशीष ने उपप्रधान पद के अन्य छह प्रत्याशियों को हराकर चारों खाने चित्त कर दिया। आशीष ने बीबीए की है और वर्तमान में एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष हैं।
लोअरकोटी पंचायत में 22 साल की अवंतिका बनीं प्रधान



विकास खंड रोहडू की पंचायत लोअरकोटी में 22 साल की अवंतिका चौहान प्रधान चुनी गई हैं। इसी पंचायत के अंकुश शर्मा उपप्रधान चुने गए हैं।
24 वर्षीय रीना सिल्लाघ्राट की प्रधान



चंबा की सिल्लाघराट पंचायत की कमान मतदाताओं ने 24 साल की रीना को सौंपी। उन्होंने 59 वोटों के अंतर से अपने विरोधी उम्मीदवार को हराया। रीना ने बीएड की है और एमए कर रही हैं। पिता किसान हैं और माता गृहिणी।
22 साल के अक्षय उपप्रधान, 22 की ही जागृति प्रधान



बिलासपुर सदर की पंचायत साई खारसी में 22 वर्षीय जागृति देवी ने प्रधान बनकर जिले में नया इतिहास रचा है। अभी तक जिले में 22 साल का कोई भी प्रधान नहीं बना था। जागृति शिमला लॉ कॉलेज से वकालत की पढ़ाई पूरी कर रही हैं। वहीं 22 साल के अक्षय शर्मा नवगठित ग्राम पंचायत निहाण के उपप्रधान बने।

Post a comment

0 Comments