//]]>
---Third party advertisement---

बिजली कटों से मेडिकल कॉलेज का स्टाफ और मरीज मुश्किल में



हमीरपुर। बिजली के अघोषित कट मेडिकल कॉलेज के स्टाफ और मरीजों की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। डॉ. राधाकृष्णन मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हमीरपुर में बीते एक सप्ताह से लगातार बिजली के कट लग रहे हैं। सप्ताह के अधिकतर दिनों में बिजली एक से तीन घंटे तक गुल रह रही है। दो जनवरी को तो अस्पताल का एमसीवी खराब होने के चलते करीब तीन घंटे बिजली बंद रही थी। इससे अस्पताल के विभिन्न टेस्ट, लैब और जांच आदि ठप हो गई थी। कर्मचारियों ने मोबाइल की रोशनी के साथ काम निपटाया था। इससे अगली ही शाम बिजली गुल होने से वार्डों में उपचाराधीन मरीजों व तीमारदारों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी। खाना खाने के समय वार्ड में अंधेरा पसरा रहा। बीते शुक्रवार को भी बिजली गुल हो गई।

इस कारण पर्ची काउंटर पर एक कंप्यूटर और प्रिंटर भी रुक गया और पर्चियां बनाने में परेशानी हुई। इस सारी समस्या की जड़ अस्पताल के पास बैकअप न होना है। हालांकि, ऐसा नहीं है कि अस्पताल के पास उपकरण नहीं हैं, लेकिन जो जनरेटर अस्पताल प्रबंधन के पास है, वह खराब है और पूरे अस्पताल का लोड उठाने के लिए भी नाकाफी है। ऐसे में अगर अस्पताल की बिजली गुल हो जाती है तो मरीजों, तीमारदारों और कर्मचारियों को परेशानी झेलनी पड़ती है।

 बिजली बोर्ड के अनुसार वह अस्पताल में सप्लाई पहुंचाने का ही जिम्मेवार होता है। अस्पताल के अंदर आने वाली बिजली संबंधी समस्या का समाधान अस्पताल प्रबंधन को ही करना होता है। इस संबंध में एमएस डॉ. आरके अग्निहोत्री ने कहा कि जनरेटर खराब होने के कारण बैकअप नहीं हो सका। नए जनरेटर के लिए टेंडर हुआ है। जल्द ही नया जनरेटर स्थापित होगा। समस्या का स्थायी समाधान किया जाएगा।





Post a comment

0 Comments