---Third party advertisement---

डलहौजी का नाम बदलने की मांग



प्रसिद्ध पर्यटन स्थल डलहौजी का नाम बदलने की मांग उठाई गई है। गवर्नर लॉर्ड डलहौजी के नाम पर रखे गए इस पर्यटनस्थल के नाम पर कई संगठनों व लोगों को आपत्ति है।

भरमौर उपमंडल में अधिवक्ता कपिल शर्मा, अभिषेक शर्मा, अमित शर्मा व स्थानीय स्वयंसेवी अनीष शर्मा के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को उपमंडलाधिकारी भरमौर मनीष सोनी के माध्यम से मुख्यमंत्री को डलहौजी का नाम परिवर्तित करने करने के लिए मांगपत्र भेजा। अभिषेक शर्मा ने कहा कि देश के कुछ शहरों व अन्य स्थानों के नाम ऐसे विदेशी लोगों के नाम पर हैं जिन्होंने देश के लोगों का दमन किया व देश को गुलामी का दाग दिया। ये नाम देशभक्त लोगों को चिढ़ाते महसूस होते हैं। 

उन्होंने कहा कि जिस लॉर्ड डलहौजी ने भारतीय रियासतों को वहां के लोगों की मर्जी से नहीं बल्कि सैन्य बल प्रयोग कर अपने अंग्रेजी साम्राज्य में मिलाया था, जिस दौरान उनका विरोध करने वाले क्रांतिकारियों को सैन्य बल से कुचल दिया गया था, ऐसे विदेशी प्रशासकों के नाम से हमारे देश के शहरों के नाम आजादी दिलवाने के लिए प्राणों की आहुति देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है का प्रतीक हैं ।

उन्होंने मांग की कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नाम पर सुभाष नगर से नामित करने की अधिसूचना जारी करें। मालूम हो कि डलहौजी विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। उधर यहां के स्थानीय व्यवसायियों का मानना है कि गवर्नर डलहौजी नाम के कारण बहुत से विदेशी पर्यटक यहां पहुंचते हैं जिससे क्षेत्र में पर्यटन व्यवसाय बढ़ रहा है जबकि इस बारे में इस प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि नाम बदलने से पर्यटन व्यवसाय में दोगुनी बढ़ोतरी होगी, क्योंकि फैजाबाद का नाम प्रयागराज करने के बाद पर्यटकों की संख्या में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी दर्ज की गई है।


Post a comment

0 Comments