---Third party advertisement---

Mandi: नेरचौक अस्पताल में 3 कोरोना संक्रमितों की मौत, 2 की होम आइसोलेशन में गई जान



नेरचौक कोविड अस्पताल में बुधवार को कोरोना से 3 मौतें हुई जबकि होम आइसोलेशन में सही निगरानी न होने से जोगिंद्रनगर के 2 लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा। मंडी सदर के बनेला गांव से 60 वर्षीय महिला ने सोमवार देर रात नेरचौक कोविड अस्पताल में दम तोड़ा। पहली दिसंबर को कोविड पाजिटिव आने के बाद उन्हें मंडी नेरचौक मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था। पिछले 5-6 दिन से सर्दी, जुखाम, खांसी और बुखार से पीड़ित थी। सोमवार देर रात तबीयत अधिक बिगडऩे पर वृद्धा ने दम तोड़ दिया, वहीं दोपहर करीब सवा 12 बजे 63 वर्षीय लखनपुर बिलासपुर के संक्रमित ने दम तोड़ा। उसे 28 नवम्बर को उन्हें भर्ती किया गया था। इसके अलावा हमीरपुर के तराकड़ निवासी 78 वर्षीय बुजुर्ग ने भी नेरचौक कोविड अस्पताल में प्राण त्याग दिए, जिसे 22 नवम्बर को भर्ती किया गया था।


इधर जोगिंद्रनगर की ब्यूंह पंचायत के अंतर्गत 89 वर्षीय व कधार पंचायत में 63 वर्षीय व्यक्ति की भी कोरोना से घर पर ही मौत हो गई। दोनों रैपिड एंटीजन टैस्ट में कोरोना संक्रमित पाए गए थे और संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें घर में ही आइसोलेशन में रखा गया था, साथ ही ये व्यक्ति शुगर, हाइपरटैंशन इत्यादि बीमारियों से भी ग्रस्ति थे। ब्यूंह वाले कोरोना संक्रमित व्यक्ति को परिजनों ने नेरचौक मेडिकल कॉलेज स्थानांतरित करने से इंकार कर दिया था तथा घर में ही उसकी देखभाल करने को कहा था लेकिन दुर्भाग्य से उसकी मौत हो गई जिसका बुधवार को कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार कर दिया गया।

कधार पंचायत का 63 वर्षीय व्यक्ति 1 दिसम्बर को सिविल अस्पताल जोगिंद्रनगर में लिए गए रैपिड एंटीजन टैस्ट में कोरोना संक्रमित पाया गया था और वह भी घर में ही आइसोलेशन में रखा गया था, जिसकी बुधवार सुबह मौत हो गई तथा कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार गांव में ही कर दिया गया। सीएमओ डॉ. देवेंद्र शर्मा ने पांच मामलों की पुष्टि की है। बता दें कि मंडी में कोरोना से मरने वालों की संख्या 87 पहुंच चुकी है। अब होम आइसोलेशन में ही संक्रमितों की मौत बड़ी चिंता का कारण बन रही है।
जिला में 85 नए मामले पॉजिटिव

जिला में बुधवार को 85 नए मामले पॉजिटिव निकले हैं, जिसमें 17 रैपिड एंटीजन से आए है। सदर मंडी के तहत मंडी शहर में ही 21, बल्ह से 26, पधर से 7 से आए जबकि कुछ मामले सुंदरनगर, धर्मपुर व निहरी से भी आए हैं।

Post a comment

0 Comments