---Third party advertisement---

डलहौजी में पर्यटकों को आकर्षित कर रही बर्फ की सफेद चादर


पर्यटन नगरी डलहौजी के ऊपरी क्षेत्रों को बर्फ ने एक बार फिर अपने आगोश में ले लिया है। डलहौजी से दिखाई देने वाली पीर पंजाल की सुंदर पहाडि़यां बर्फ की सफेद चादर ओढ़ लेने के बाद और भी चमक उठी हैं।

शनिवार सुबह तक डैनकुंड में जहां आठ से नौ इंच तक ताजा हिमपात हुआ, वहीं लक्कड़मंडी व आहला में छह से सात इंच व डलहौजी शहर में आधा इंच के करीब बर्फ पड़ी है। हालांकि डलहौजी शहर में गिरी बर्फ शनिवार सुबह मौसम साफ होने के साथ ही पिघल गई परंतु डैनकुंड, लक्कड़मंडी व आहला में बर्फ जम गई थी।

हिमपात के बाद डलहौजी के ऊपरी क्षेत्रों का नजारा तो मनमोहक हो गया परंतु डलहौजी-खज्जियार मार्ग पर लक्कड़मंडी के समीप सड़क पर बर्फ की मोटी चादर बिछ जाने से मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए अवरुद्ध हो गया।

लोक निर्माण विभाग की मशीनरी शनिवार सुबह से ही सड़क से बर्फ हटाकर खज्जियार मार्ग को बहाल करने में जुट गई थी। उधर हिमपात के चलते पर्यटन नगरी डलहौजी सहित समूचा उपमंडल डलहौजी शीत लहर की चपेट में आ गया है। हालांकि डलहौजी में हुआ हिमपात पर्यटन कारोबारियों के लिए व्हाइट क्रिसमस व नववर्ष के स्वागत पर अच्छे पर्यटन कारोबार की उम्मीद लेकर आया है।

नवंबर में सीजन का पहला हिमपात हुआ था जिसके बाद से लेकर अबतक तीसरी बार डलहौजी में हिमपात हुआ है। डलहौजी के साथ ही पीरपंजाल की पहाड़ियों पर भी ताजा हिमपात हुआ है जिससे डलहौजी शहर से देखी जाने वाली पीर पंजाल की पहाड़ियां बर्फ की सफेद चादर ओढ़ कर और भी ज्यादा खूबसूरत दिखाई दे रही हैं। उधर डलहौजी में हुए ताजा हिमपात के बाद डलहौजी विधानसभा हलके से विधायक आशा कुमारी ने भी अपने निवास स्थान जंद्रीघाट पैलेस परिसर में हुए हिमपात के फोटो इंटरनेट मीडिया पर लोगों के साथ साझा किए हैं।

Post a comment

0 Comments