---Third party advertisement---

जब खूंखार आरोपी को काबू करने के लिए पुलिस को चलानी पड़ीं गोलियां



चम्बा जिला के सलूणी उपमंडल के कैंथली गांव में 3 महिलाओं पर कुल्हाड़ी से हमला करने के आरोपी को पकडऩे में पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने वीरवार को आरोपी को थमरू जंगल में ढूंढ निकाला और आत्मसमर्पण करने के लिए कहा लेकिन आरोपी आत्मसमर्पण करने के लिए तैयार नहीं था। पुलिस के बार-बार चेताने पर भी आरोपी आत्मसमर्पण करने की बजाय पुलिस व लोगों को कुल्हाड़ी से मारने की धमकी देता रहा। इसके चलते पुलिस को पहले 2 हवाई फायर करने पड़े लेकिन आरोपी पुलिस के हवाई फायर से नहीं माना। फिर पुलिस ने उसकी टांग में घुटने के नीचे गोली चलाई, तब जाकर उसने अपने हाथ में पकड़ी कुल्हाड़ी को फैंका और पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।




आरोपी को पकड़ने के लिए एसपी चम्बा अरूल कुमार, एएसपी रमन शर्मा, एसडीएम सलूणी किरण भड़ाना व डीएसपी शेर सिंह के नेतृत्व में पुलिस जवान और स्थानीय लोगों के साथ वन विभाग के कर्मचारी मौके पर मौजूद रहे। जानकारी के अनुसार आरोपी इतना खूंखार बन गया था कि उसे पकड़ने के लिए पुलिस की क्यूआरटी की टीम, चम्बा के कमांडो, सीमांत क्षेत्र में तैनात आईआरबी के जवानों, खैरी थाना, तीसा थाना व चम्बा थाना सहित स्थानीय थाना किहार के पुलिस जवानों को बुलाना पड़ा। ऐसी नौबत आ गई थी कि पुलिस को उसे पकडऩे के लिए ड्रोन भी मंगवाना पड़ा, मगर उससे पहले ही पुलिस ने उसकी टांग के घुटने की नीचे फायर कर उसे पकड़ लिया।



घटना स्थल पर माहौल इतना तनावपूर्ण हो गया था कि गुस्साए लोगों को प्रशासन ने बड़ी मुश्किल से शांत किया। बता दें कि बीते कल आरोपी द्वार कुल्हाड़ी से किए वार से गंभीर घायल एक महिला रीता की टांडा अस्पताल मौत हो गई है जबकि एक महिला गीता देवी को टांडा से पीजीआई चंडीगढ़ रैफर किया गया है। वहीं एसडीएम सलूणी किरण भड़ाना ने बताया कि आरोपी ने नशे की हालत में यह हमला किया था। नशा समाज के लिए नुक्सानदायक है। लोगों से अपील है कि ऐसे लोगों की जानकारी पुलिस व प्रशासन को देें।


Post a comment

0 Comments