---Third party advertisement---

कोरोना का कहर… सुड़ाला में दुकानें बंद… घरों में कैद लोग



कोरोना वायरस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन घोषित कर बाजार को बंद करने के साथ ही लोगों की आवाजाही पर रोक होने के चलते बुधवार को कस्बे में वीरानी छाई रही। उपमंडलीय प्रशासन के आदेशों के चलते सुंडला बाजार की तमाम दुकानें बंद रही। इसके साथ ही लोग भी घरों से बाहर नहीं निकले। हालांकि कस्बे के बीचोंबीच गुजरने वाले चंबा-सलूणी मुख्य मार्ग पर वाहनों की आवाजाही जारी रही।


उल्लेखीय है कि उपमंडलीय प्रशासन ने सुंडला में पिछले कुछ अरसे से कोरोना के मामलों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी के चलते मंगलवार रोज कस्बे को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया था। इसके चलते बुधवार से आगामी पांच दिसंबर तक कस्बे के बाजार को बंद रखने और लोगों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी थी। बुधवार को सुंडला कस्बे में प्रशासनिक आदेशों पर अमल दिखाते हुए दुकानदारों ने जहां अपनी दुकानें बंद रखी वहीं लोग भी घरों से बाहर नहीं निकले। कस्बे में आदेशों की कड़ाई से पालन के लिए पुलिस का पहरा भी बिठाया गया है। बहरहाल, उपमंडलीय प्रशासन की ओर से लोगों की सुरक्षा को लेकर उठाए गए इस कदम में कस्बावासियों का बुधवार को भरपूर सहयोग देखने को मिला। उधर, एसडीएम सलूणी किरण भड़ाना ने बताया कि इलाके में कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए एहतियात के तौर पर यह कदम उठाया गया है।

Post a comment

0 Comments