//]]>
---Third party advertisement---

ग्रामीणों ने रुकवाई फिन्ना परियोजना की डंपिंग, आंदोलन की दी चेतावनी



उपमंडल भटियात की आदर्श पंचायत परछोड़ के ग्रामीणों ने अवैध डंपिंग का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को फिन्ना सिंह सिंचाई परियोजना की गाड़ियाें को रोक दिया। ग्रामीणों ने यहां डंपिंग नहीं करने दी। विवाद पैदा होने के बाद अब तक दोनों पक्षों में कोई ठोस चर्चा नहीं हो पाई है, ऐसे में जहां करोड़ों रुपए की लागत वाली इस चिर प्रतीक्षित महत्वाकांक्षी परियोजना का डंपिंग कार्य प्रभावित हुआ है तो वहीं ग्रामीण भी टस से मस होने को तैयार नहीं दिख रहे। उधर, जल शक्ति विभाग के अधिकारियों ने भी इस दौरान पंचायत के नुमाइंदों से टैलिफोनिक चर्चा की लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर डटे रहे।


ग्रामीणों की मानें तो फिन्ना सिंह परियोजना प्रबंधन यहां पर गलत ढंग से अवैध तरीके से डंपिंग कर रहा है। इससे बारिश के दिनों में जहां राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला परछोड़ के भवन को खतरा होने का अंदेशा ग्रामीण जता रहे हैं तो वहीं उन्हें अपने घरों को लेकर भी चिंता सताने लगी है। ग्रामीणों की मानें तो परियोजना प्रबंधन को यहां पर रिटेनिंग वॉल का कार्य करवाने की मांग पंचायत स्तर पर की गई थी लेकिन लंबा अर्सा गुजर जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस सारे प्रकरण को लेकर ग्रामीणों में योजना प्रबंधन गुस्सा है।

ग्रामीणों ने कहा कि यहां पर ग्रामीण डंपिंग नहीं होने देंगे। बावजूद इसके अगर विभाग तथा परियोजना प्रबंधन यहां पर डंपिंग करता है तो ग्रामीण आंदोलन के लिए मजबूर होंगे। उधर, जल शक्ति विभाग के सदवां स्थित एक्सियन जीवन प्रकाश ने अवैध डंपिंग के आरोपों को गलत बताया। उन्होंने कहा कि यह जगह डंपिंग साइट के रूप में चयनित की गई है तथा यहां पर ग्रामीणों के लिए इस खेल मैदान का निर्माण जल्द करवाया जाएगा। उन्होंने अवैध डंपिंग के आरोपों को सिरे से खारिज किया है।
यह है मामला

स्थानीय लोगों ने बताया की परछोड़ गांव के समीप परियोजना प्रबंधन ने डंपिंग करके वहां पर मिट्टी का बड़ा पहाड़ खड़ा कर दिया है। इसी के चलते लोगों को डर है कि बारिश के दिनों में पानी का बहाव उनके घरों की तरफ आने से भू-स्खलन का खतरा जहां बढ़ जाएगा तो वही इससे स्कूल को भी खतरा पैदा हो जाएगा। एक और जहां ग्रामीण परियोजना प्रबंधन पर मनमाने ढंग से अवैध डंपिंग करने का आरोप लगा रहे हैं तो उधर जल शक्ति विभाग आरोपों से पूरी तरह इन्कार कर रहा है।

Post a comment

0 Comments