//]]>
---Third party advertisement---

हिमाचल के 5 जिलों का माइनस में पारा, शिमला से ज्यादा इन 2 जिलों में पड़ रही ठंड




 प्रदेश में पहाड़ी इलाकों से लेकर मैदानों तक ठंड का कहर जारी है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर, कुल्लू, चम्बा और सोलन जिलों में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे चला गया है। इन जिलों में कई जगहों पर पानी की पाइपलाइन जम गईं। मैदानी भागों में घने कोहरे की दस्तक से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। इससे वाहनों को आवाजाही में दिक्कतें हो रही हैं। कांगड़ा और सोलन जिलों में शिमला से ज्यादा ठंड पड़ रही है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 3-4 दिन प्रदेश के अधिकांश स्थानों में घना कोहरा छाए रहने व रात के तापमान में और गिरावट होने की संभावना है।

केलांग राज्य का सबसे ठंडा स्थल

ठंड के प्रकोप का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 5 जिलों का रात का पारा माइनस और 5 अन्य जिलों का शून्य डिग्री के करीब पहुंच गया है। लाहौल-स्पीति जिला का मुख्यालय केलांग राज्य का सबसे ठंडा स्थल रहा, जहां न्यूनतम तापमान -5.6 डिग्री सैल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसी तरह किन्नौर के कल्पा में -4.1, पर्यटन स्थलों मनाली व डल्हौजी में -1 और सोलन में -0.8 डिग्री सैल्सियस रिकॉर्ड हुआ।

जमावबिंदू के करीब पहुंचा इन शहरों का पारा

जिन शहरों का पारा जमावबिंदू के करीब पाया गया, उनमें सुंदरनगर में 0.6, भुंतर में 0.7, पालमपुर में 1, धर्मशाला में 1.2, कांगड़ा में 1.9, कुफरी और ऊना में 2, चम्बा में 2.2, शिमला में 2.6 और मंडी में 3 डिग्री रहा। इसके अलावा हमीरपुर में 6 और बिलासपुर में 6.2 डिग्री रहा। बुधवार को जहां पर्वतीय क्षेत्रों में पाला मुसीबत बना रहा, वहीं मैदानी क्षेत्रों में कोहरे ने परेशानी में डाला। हमीरपुर, बिलासपुर और ऊना जिलों में सुबह की शुरूआत एक बार फिर कोहरे के साथ हुई। हालांकि दिन में 11 बजे के बाद धूप खिलने से ठंड का प्रकोप कुछ कम हुआ। उधर, राजधानी शिमला में भी गुनगुनी धूप खिलने से लोगों को राहत मिली।

क्या कहते हैं मौसम विभाग के निदेशक

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य में आगामी 22 दिसम्बर तक मौसम शुष्क बना रहेगा। इस दौरान अधिकतम तापमान तो सामान्य रहेगा, लेकिन न्यूनतम तापमान में गिरावट जारी रहने से रात में सर्दी का कहर और बढ़ेगा।

Post a comment

0 Comments