---Third party advertisement---

मौसम विभाग की चेतावनी, हिमाचल के मैदानी इलाकों में 3 दिन चलेगी शीतलहर



हिमाचल प्रदेश में रविवार को एक बार फिर से मौसम के मिजाज में बदलाव देखने को मिला। दिन में हालांकि धूप खिली लेकिन साथ में तेज ठंडी हवाएं भी चलती रहीं, जिससे तापमान में काफी गिरावट दर्ज की जा रही है। पूरा प्रदेश भीषण शीतलहर की चपेट में है। आने वाले दिनों में सर्दी का प्रकोप और बढ़ेगा। खासकर मैदानी इलाकों में शीतलहर तेज होने से जनजीवन प्रभावित हो सकता है। मौसम विभाग ने हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना सहित मंडी, कांगड़ा, सिरमौर और सोलन जिलों के मैदानी भागों में 29, 30 व 31 दिसम्बर को धुंध के साथ शीतलहर चलने का यैलो अलर्ट जारी किया है। इस बार मैदानों में पहाड़ों से ज्यादा ठंड पड़ रही है। आलम यह है कि तमाम मैदानी इलाकों की रातें शिमला, मनाली और डल्हौजी से भी सर्द बनी हुई हैं।


मौसम विभाग के अनुसार जनजातीय जिलों लाहौल-स्पीति व किन्नौर के अतिरिक्त मंडी, कुल्लू और सोलन जिलों में न्यूनतम तापमान माइनस में चला गया है, जबकि हमीरपुर, बिलासपुर, कांगड़ा और ऊना जिलों में पारा शून्य के करीब पहुंच गया है। पारे में गिरावट से कई जगहों पर पानी की पाइप लाइन जम गई हैं। रविवार को 7 शहरों का न्यूनतम तापमान माइनस में रिकॉर्ड किया गया। केलांग -11.6 डिग्री सैल्सियस तापमान के साथ सबसे ठंडा शहर रहा। इसके अलावा कल्पा में पारा -3.4, मंडी -2, भुंतर -1.6, सुंदरनगर -1.2, सोलन में -0.5 व मनाली में -0.6 डिग्री सैल्सियस रिकॉर्ड हुआ है। अन्य शहरों कांगड़ा में न्यूनतम तापमान 2.2, पालमपुर व बिलासपुर में 2.5, धर्मशाला में 2.6, हमीरपुर में 2.7, डल्हौजी में 2.9, ऊना में 3, कुफरी में 3.6, शिमला में 4.7 और नाहन में 7.1 डिग्री दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश में अगले 24 घंटों में बारिश व बर्फबारी होने की संभावना है, जिससे तापमान में और ज्यादा गिरावट आएगी। उन्होंने कहा कि पर्यटन स्थलों में इस बार नववर्ष का आगमन बर्फबारी से नहीं होगा। प्रदेश भर में 29 दिसम्बर से 2 जनवरी तक मौसम साफ बना रहेगा। मनमोहन सिंह ने कहा कि 29, 30 व 31 दिसम्बर को मैदानी इलाकों हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना सहित कांगड़ा, सोलन व सिरमौर जिलों के निचले क्षेत्रों में शीतलहर के साथ घना कोहरा छाएगा। इसे लेकर यैलो अलर्ट जारी किया गया है।


Post a comment

0 Comments