POK में आतंकियों के लॉन्चपैड को ध्वस्त किए जाने की रिपोर्ट्स को सेना ने बताया फर्जी



जम्मू | भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में संदिग्ध आतंकी ठिकानों पर ‘पिनप्वाइंट स्ट्राइक’ करने वाली रिपोर्टों को गुरुवार को खारिज कर दिया। न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया था कि कड़ाके की सर्दी पड़ने से पहले भारत में ज्यादा से ज्यादा आतंकियों की घुसपैठ कराने की पाकिस्तानी सेना की कोशिशों के जवाब में भारतीय सेना पीओके में संदिग्ध आतंकी ठिकानों पर ‘पिनप्वाइंट स्ट्राइक’ की है।

पीओके में आतंकियों ठिकानों निशाना बनाने वाली रिपोर्टों के बाद भारतीय सेना ने स्पष्ट किया है कि एलओसी पर आज किसी भी तरह की फायरिंग नहीं हुई है। भारतीय सेना के सैन्य संचालन महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने बताया, ”एलओसी के पार पीओके में भारतीय सेना की कार्रवाई की रिपोर्ट्स फर्जी हैं।”

इससे पहले, पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया था कि कि बीते कुछ हफ्तों में जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने में मदद के उद्देश्य से पाकिस्तानी सेना नियंत्रण रेखा पर भारत की तरफ के असैन्य क्षेत्रों को लगातार मोर्टार और अन्य भारी हथियारों से निशाना बना रही है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 2019 में जहां पूरे साल में 18 नागरिक पाकिस्तान की गोलाबारी में मारे गए थे, वहीं इस साल अब तक 21 निर्दोष असैनिक नागरिकों की जान पाकिस्तान की गोलाबारी में जा चुकी है। सूत्रों ने कहा कि भारतीय सेना द्वारा आतंकवादियों (अधिकतर पाकिस्तानी और विदेशी) को नाकाम करने के लिए खुफिया सूचना आधारित लक्षित हमले किए जा रहे हैं और इन अभियानों में अपनी तरफ नुकसान की गुंजाइश बेहद कम रहती है। ये लेख भी आपको पसंद आएंगे। 👇
ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...