छत फाड़कर आसमान से गिरा खजाना उल्कापिंड ने कंगाल को बनाया करोड़पति देखें PHOTO



जकार्ता। हमने अभी तक ये कहावत सुनी है कि ऊपर वाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है। लेकिन हाल ही यह घटना तब सच हो गई जब एक इंडोनेशियाई व्यक्ति के घर पर सच में छत फाड़ एक ऐसी चीज गिरी कि उस कारण वह रातोंरात कंगाल से सीधे करोड़पति बन गया। दरअसल ये अजीब संयोग हुआ है इंडोनेशिया के एक युवक जोसुआ हुतागलंगु के साथ। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जोसुआ हुतागलंगु जब एक दिन घर पर कुछ काम कर रहा था, तभी अचानक उसके घर के सामने कुछ भारी-भरकम चीज गिरी। पहले तो जोसुआ इतनी भारी चीज को अपने घर से सामने गिरने की आवाज से भयभीत हो गया। जब उसने थोड़ी हिम्मत करके पास जाकर देखा तो उसके घर के सामने आसमान से एक भारी-भरकम पत्थर के टुकड़े जैसी वस्तु गिरी थी। जोसुआ के आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा, क्योंकि उसे यकीन नहीं हो रहा था कि इतना बड़ा पत्थर आखिर उसके घर के सामने आसमान से कैसे और कहां से गिरा होगा।

4 अरब साल पुरानी उल्कापिंड का अवशेष

बराक ओबामा की किताब में खुलासा, राहुल के लिए खतरा नहीं थे मनमोहन, इसलिए बनाया PM
दरअसल जोसुआ जिसे सामान्य पत्थर समझ रहा था वह करीब 4 अरब साल पुरानी दुर्लभ उल्कापिंड का अवशेष थे। इस विशेषता के कारण उसकी कीमत करीब 10 करोड़ रुपए आंकी गई है। जोसुआ के मुताबिक उल्कापिंड के गिरने से उसके घर के सामने स्थित छत में एक बड़ा छेद हो गया है।

जोसुआ इंडोनेशिया के कोलांग इलाके में ताबूत बनाने का का करता है। जिस वक्त उल्कापिंड गिरा उस समय भी जोसुआ घर के दूसरे हिस्से में एक ताबूत तैयार करने के काम में जुटा हुआ था। जोसुआ ने बताया कि उल्कापिंड का वजन करीब दो किलो है और वह छत तोड़ते हुए घर में गिरा और जमीन के अंदर करीब 15 सेंटीमीटर तक धंस गया था।

जोसुआ को मिल चुके हैं 10 करोड़ रुपए

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जोसुआ को इस दुर्लभ उल्कापिंड के अवशेष की कीमत के रूप में 14 लाख पाउंड यानी करीब 10 करोड़ रुपए मिल चुके हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक यह उल्कापिंड अत्यंत दुर्लभ प्रजाति गपाना का बताया जा रहा है, इस कारण से इसकी प्रति ग्राम कीमत 857 डॉलर है। जोसुआ ने बताया कि जिस वक्त उल्कापिंड उसके घर में गिरा था, तब वह लाल सुलगते हुए कोयले के समान दिखाई दे रहा था, लेकिन अब ठंडा हो चुका है। ये लेख भी आपको पसंद आएंगे। 👇
ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...