Mandi: गूंगी-बहरी बहन से दुष्कर्म का प्रयास करने वाले चचेरे भाई को कोर्ट ने सुनाई ये सजा



जिला एवं सत्र न्यायाधीश मंडी आरके शर्मा की अदालत ने गूंगी-बहरी पीड़िता बहन से दुष्कर्म के प्रयास का आरोप साबित होने पर चचेरे भाई को 5 साल के कठोर कारावास तथा 15000 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है और जुर्माना अदा न करने की सूरत में दोषी को एक साल का अतिरिक्त साधारण कारावास भुगतना होगा। जुर्माने की राशि यदि वसूली जाती है तो यह राशि भी पीड़िता को मुआवजे के रूप में प्रदान करने के कोर्ट ने आदेश सुनाए हैं, वहीं यौन दुव्र्यवहार के समय पीड़िता की उम्र और अन्य परिस्थितियों को मद्देनजर रखते हुए दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 357 (ए) के तहत मुआवजे के लिए जिला विधिक प्राधिकरण मंडी से सिफारिश की गई है।


मामले की पुष्टि जिला न्यायवादी कुलभूषण गौतम ने की है। अभियोजन पक्ष की तरफ से मुकद्दमे की पैरवी उप जिला न्यायवादी चानन सिंह ने की। अभियोजन पक्ष और बचाव पक्ष की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने फैसला सुनाया कि इस मामले में दोषी द्वारा पीड़िता के साथ दुष्कर्म करने के प्रयास का दोष सिद्ध हुआ है। 18 दिसम्बर को पीड़िता के भाई ने जोगिंद्रनगर थाना में इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...