गले की खराश और खांसी से जल्द राहत पाना चाहते है तो अपनाये ये घरेलू नुस्खे



मौसम कैसा भी हो गले की खराश कब आपको पूरी तरह अपनी गिरफ्त में ले लेगी पता ही नहीं चलेगा। इससे गले में बहुत ही ज्यादा दर्द होता है और इससे गले में दर्द और सूजन भी आ जाती है। लेकिन आज हम आपको इन बाधाओं से बचने के लिए बहुत ही आसान से घरेलू नुस्खे बताते है….

नमक के गुनगुने पानी से गरारे – यह इलाज अभी तक सबसे पुराना है और यह सदियों से अपनाया जा रहा है। अगर गले में बहुत ज्यादा खराश लग रही है तो नमक के गुनगुने पानी से गरारे करना सबसे पुराना और बहुत ही सरल उपाय माना जाता है।नमक एंटी-बैक्टीरियल होता है, जिससे गले की खराश को बहुत ही आसानी से दूर किया जा सकता है। 1/4 नमक की चम्मच को गुनगुने पानी में डालकर उसके दिन में 3 से 4 बार गरारे करने से गले की खराश से राहत पाया जासकता है।

हल्दी का दूध – गले की खराश से राहत पाने के लिए दूध में हल्दी मिलाकर पीने की प्रक्रिया प्राचीन भारत से ही लगातार चली आ रही है। हल्दी का दूध पीने से आपके गले में खराश से हुई सूजन और दर्द दोनों से बहुत ही आसानी से राहत पाई जा सकती है। आयुर्वेद में हल्दी के दूध को प्राकृतिक एंटीबायोटिक के नाम से भी जाना जाता है।

हर्बल चाय – अदरक,दालचीनी,लीकोरिस को एक गिलास पानी में 5 से 10 मिनट मिलाने के बाद उसके मिश्रण को दिन में तीन बार पीने से गले में हुई खराश से बहुत ही आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

शहद – आप गलेकी खराश से राहत पाने के लिए एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद और नींबू का रस मिलाकर दिन में तीन बार पीने से भी सुखी खांसी से आराम पाया जा सकता है। शहद ह्यपेरटोनिक ओस्मोटिक हाइपरोनिक ऑसमाटिक की तरह कार्य करता है,जो गले की सूजन और दर्द को खत्म करने में मदद करता है।

सेब का सिरका – सेब का सिरका एक तरह का एसिड होता है जो गले की खराश से जन्में बैक्टीरिया को खत्म करता है। एक चम्मच एप्पल विनेगर को अपनी हर्बल चाय में मिलाकर पीने से और एक चम्मच विनेगर को ही पानी में मिलाकर गरारे करने से बलगम से छुटकारा पाया जा सकता है।

लहसुन – लहसुन में सल्फर आधारित योगिक एलेसिन पाया जाता है, जो बैक्टीरिया को खत्म करता है। लहसुन का एक पीस गाल और दांतो के बीच दबाकर टॉफी की तरह चूसने से गले की खराश और खांसी से राहत पाई जा सकती है

ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...