बिहार में बनेगी महागठबंधन की सरकार? तेजस्वी ने चुनाव आयोग पर लगाया धांधली का आरोप

बिहार में बनेगी महागठबंधन की सरकार? तेजस्वी ने चुनाव आयोग पर लगाया धांधली का आरोप बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों को आये हुए दो दिन बीत चुके हैं. लेकिन बिहार में गहमागहमी का माहौल अभी भी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. हलाकि एग्जिट पोल के अनुमानों को गलत साबित करते हुए नीतीश कुमार की अगुवाई वाले दल एनडीए ने विधानसभा चुनाव जैसे-तैसे जीत लिया। लेकिन इस चुनाव में कांटे की टक्कर के बाद भले ही महागठबंधन हार गया लेकिन तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आरजेडी ने 75 सीटें हासिल कर बिहार की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मंगलवार देर रात को चुनाव आयोग ने आखिरी नतीजे घोषित किए जिसके मुताबिक 243 सीटों वाली विधानसभा में एनडीए को 125 और महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं. RJD नेता तेजस्वी यादव ने नतीजों को लेकर गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमे वो पार्टी की हार के बाद भी जोशीले अंदाज में नजर आए।

तेजस्वी का किस आधार पर सरकार बनाने का दावा-



राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव इन चुनावों में जीत तो हासिल नहीं कर पाए लेकिन इस चुनाव में उनकी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. वही प्रेस वार्ता के दौरान तेजस्वी यादव ने पत्रकारों से कहा कि चाहे मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कोई भी बैठे, लेकिन असली विजेता तो हम ही है. आपको बता दें प्रेस वार्ता लेकर आज दिन भर राबड़ी आवास पर गहमागहमी का महोला रहा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान तेजस्वी यादव ने राजद विधायकों की से यह भी कहा कि आप चिंता मत कीजिए बिहार में हम सरकार बनाने जा रहे हैं. तेजस्वी यादव के इस दावे ने पूरे बिहार की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है।

तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पे लगाया धांधली का आरोप-

महागठबंधन के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक के दौरान तेजस्वी यादव को विधायक दल का नेता चुना गया नेता चुने जाने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कहा कि एनडीए और महागठबंधन में वोटों का अंतर मात्र 12,270 है, लेकिन एनडीए को 15 सीटें ज्यादा मिली हैं. यह आंकड़ा ही बताता है कि मतगणना में क्या-क्या हुआ होगा।

वही इस दौरान तेजस्वी यादव ने मतगणना में भारी गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कहा की सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बैलेट पेपर के अधिकांश मतों को रद्द कर दिया गया। तेजस्वी ने कहा कि जनता का बहुमत उन्हें मिला है लेकिन चुनाव आयोग ने बहुमत एनडीए को दे दिया है।

राजद सूत्र के अनुसार महागठबंधन को सरकार बनाने के लिए 12 और विधायकों की जरूरत है, ऐसे में अधिकतर राजनैतिक विश्लेषकों को लग रहा है की तेजस्वी जीतन राम मांझी और मुकेश सैनी को उपमुख्यमंत्री पद का ऑफर देकर के अपने पाले में ला सकते हैं, साथ ही AIMIM के पांच विधायकों को भी मंत्री पद का ऑफर देके अपने दल में शामिल कर सकते हैं।

हालाकि आज मुकेश सैनी और जीतन राम मांझी ने नीतीश कुमार से मुख्यमंत्री आवास पे मुलाकात करके उन्हें अपना समर्थन देने की बात कही है। लेकिन फिर भी तस्वीर को देखकर लगता है कि कहीं बिहार में रातों रात राजनैतिक बाजी पलट ना जाये। हालाकि अब यह देखने वाली बात होगी कि तेजस्वी क्या सिर्फ हवा हवाई बातें कर रहे हैं या फिर उनके पास कोई प्लान है।  देश विदेश की खबरें और मज़ेदार लेख के लिए यहाँ क्लिक करें साथ में हमें फॉलो करना न भूलें।
ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...