आधार कार्ड बनवाने से पहले इस नंबर पर करें कॉल, ढेर सारी मुश्किल हो जाएगी आसान

  

आज आधार कार्ड की उपयोगिता के बारे में अधिकतर लोग जान चुके हैं। पैन कार्ड हो या राशन कार्ड या फिर मतदाता पहचान पत्र, इन्हें बनवाने के लिए 12 अंकों का आधार सारी मुश्किल आसान कर देता है। चाहे आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना हो या NREGS जॉब्स कार्ड या फिर बैंक में खाता ही क्यों न खुलवाना हो, आधार हर जगह मांगा जा रहा है।

पिछले दिनों वित्तमंत्री सीतारमण ने कहा, ”प्रत्येक खाता 31 मार्च, 2021 तक आधार से जुड़ना चाहिए और जहां भी जरूरी तथा लागू हो, पैन से उसे जोड़ा जाना चाहिए।” अगर आपके घर में किसी का आधार कार्ड नहीं बना है तो आपको अवश्य बनवा लेना चाहिए। इसके लिए कौन से डाक्यूमेंट लगेंगे, यह जानने के लिए बस आपको केवल 1947 नंबर पर कॉल करना है। अगर आप यह भी नहीं करना चाहते तो इस लिंक (https://uidai.gov.in/images/commdoc/valid_documents_list.pdf) पर क्लिक करके देख सकते हैं।

बता दें आधार को भारत में रहने वाले लोगों के लिए इसलिए लागू किया गया था जिससे कि वो एक ही पहचान पत्र को  कई  जगह इस्तेमाल कर सकें। यह सिर्फ एक पहचान पत्र नंबर से कहीं ज्यादा है। हालांकि ऐसी बात नहीं है कि  सिर्फ भारतीय आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं । आधार के लिए योग्यता मानदंड इतना भी मुश्किल नहीं है जितना कि  सबको लगता है । एक व्यक्ति आधार के लिए आवेदन कर सकता है अगर…

  • वह भारत में रहने वाला एक भारतीय नागरिक है, या
  • वह भारत में रहने वाला एक अनिवासी भारतीय/नॉन रेजिडेंट इंडियन है, या
  • वह भारत में रहने वाला एक विदेशी है
  • यहाँ तक ​​कि नवजात शिशु भी आधार बनाने के लिए योग्य हैं
  • भारत में रहनेवालों के लिए आधार कार्ड
  • प्रत्येक भारतीय नागरिक आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है और नंबर पा सकता है। सरकार ने अब टैक्स देने वालों के लिए अपने आयकर रिटर्न ( इनकम टैक्स रिटर्न) भरते समय पैन को आधार के साथ जोड़ना जरूरी कर दिया है।

नवजात शिशु का भी बन सकता है आधार

मतदाता पहचान कार्ड  के विपरीत आधार कार्ड नाबालिगों के लिए भी जारी किये जा सकते हैं। उन्हें बस पहचान के सबूत के तौर पर अपना बर्थ सर्टिफिकेट (जन्म प्रमाणपत्र) और अपने मां-बाप का पहचान और पता प्रमाण जमा करना है । नवजात शिशु  भी आधार के लिए एनरोल कर सकते हैं ।हालांकि, जैसे ही वे 5 से 15 साल की उम्र में आते हैं उन्हें अपना बॉयोमेट्रिक डेटा अपडेट करना होगा। 5 साल से कम उम्र के बच्चों के आधार कार्ड नीले रंग के होते हैं।

निम्न योजनाओं में उपयोग हो सकता है आधार

  • खाद्य एवं खाद्यान्न: सार्वजानिक वितरण प्रणाली, खाद्य सुरक्षा, मिड डे मील, समेकित बाल विकास योजना।
  • रोजगार- महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना, इंदिरा आवास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार गारंटी योजना।
  • शिक्षा-सर्व शिक्षा अभियान, शिक्षा का अधिकार।
  • समावेशन एवं सामाजिक सुरक्षा-जननी सुरक्षा योजना, प्राचीन जनजाति समूह विकास योजना, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना।
  • स्वास्थ्य देखभाल- राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना, जनश्री बीमा योजना, आम आदमी बीमा योजना।
  • संपत्ति हस्तांतरण, पहचान पत्र, पैन कार्ड आदि समेत अन्य विविध प्रयोजनाएँ।
 इन लेख को भी जरूर पढ़ें।

ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...