रामायण के अनुसार इन चार लोगों के पास कभी नहीं टिकती लक्ष्मी ..कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये गलती



जीवन में सफल बनने की इच्छा सभी को होती है.,कौन नहीं चाहता है की उसका जीवन हर तरीके की खुशहाली से भरा हुआ हो भले ही हर तरीके से खुश रहने का पैमाना पैसा नहीं हो सकता है लेकिन अगर आप भौतिक सुख की बात करें तो ये पैसो की बगैर संभव नहीं है, आज के ज़माने में खुश वही व्यक्ति माना जाता है जिसके पास पैसा है.धन ही आज सुखमय जीवन का आधार मन जाता है संसार में बहुत से लोग थोड़ी मेहनत करते है और उन्हें ज्यादा सफलता मिलती है. लेकिन कुछ लोग दिन रात मेहनत करते रहते है और उनको उनके मन मुताबिक सफलता नहीं मिल पाती है जिसके कारण वो अपने जिन्दगी में दुखी और निराश नजर आते है.

हिन्दू धर्म में रामायण या राम चरित मानस को जीवन जीने का आधार माना जाता है. रामायण हमे जीवन जीने की सही दिशा दिखाती है. रामायण जिन्दगी के हर पल में हमे जीवन को आदर्श और धर्म के अनुसार जीने के लिए प्रेरित करती है . राम चरित मानस में इस बात का उल्लेख किया गया है की कुछ लोगों के पास धन क्यों नहीं रुकता है आज हम आपके सामने उन्ही बातों का उल्लेख करने जा रहे है.

रामायण के अनुसार अगर आपका जीवन साथी सही नहीं है तो आपके पास लक्ष्मी कभी नहीं रुकेंगी. वैसे भी कहावत है की एक सभ्य लड़की पुरे घर को सवांर देती है और घर को स्वर्ग बना देती है. और जो लोग अपने जीवन साथी को धोखा देते हैं उनके पास लक्ष्मी कभी भी निवास नहीं करती है अगर आप ऐसा करते हैं तो आपके घर का सत्यानाश हो जाता है.

रामायण के अनुसार अगर आप लालची है तो कभी भी आपके पास धन नहीं रहेगा. लालच बुरी बला है ये कहावत तो आप लोगों ने सुनी ही होगी इसलिए लालच छोड़ क्र आपको धर्म का अनुसरण करना चाहिए.

रामायण के अनुसार जिस भी व्यक्ति के पास घमंड है उसके पास धन कभी नहीं हो सकता है. अगर ऐसे किसी व्यक्ति के पास धन है भी तो वो बहुत जल्द ही क्षय हो जायेगा. धन को अपने पास रखने के लिए मनुष्य को घमंड का त्याग करना चाहिए.

रामायण के अनुसार जिस भी घर में मादक चीजों का सेवन किया जाता है वह पर लक्ष्मी कभी निवास नहीं करती है. इसलिए यदि आपके अंदर भी ऐसी कोई बुरी आदत है, तो उसे अभी छोड़ दीजिये जिससे माँ लक्ष्मी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहे.
ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...