चीन ने दोस्त पाकिस्तान को दिया धोखा: इस पर लगाई रोक, रो रहे इमरान और…



नई दिल्ली: चीन और पाकिस्तान की दोस्ती जगजाहिर है। इसके साथ ही कोई ऐसा सगा नहीं जिसे चीन ने ठगा नहीं। अब चीन ने पाकिस्तान को तगड़ा झटका दिया है। ड्रैगन ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी है।

दरअसल एक तरफ पाकिस्तान कोरोना से परेशान है, तो वहीं राजनीतिक बवाल भी जारी है। विशेषज्ञों का कहना है कि चीन की यह चाल है और वह जानबूझकर यह खेल खेल रहा है जिससे पाकिस्तान ज्यादा ब्याज दर पर लोन लेने को मजबूर हो जाए। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीईसी के प्रोजेक्ट रोकने की वजह से पाकिस्तान के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो सकती है। इस प्रोजेक्ट की कई परियोजनाओं पर पहले ही रोक लगा दी गई। इनमें वे परियोजनाएं भी शामिल हैं जिन्हें 2018 में इमरान सरकार ने रोक दिया था। इनम परियोजना में पिछली सरकार के भ्रष्टाचार की आशंका है।

चीन की है ये बड़ी चाल
कुछ दिनों पहले पाकिस्तान ने सीपीईसी के निवेश की कुल धनराशि का एक हिस्सा कर्ज के तौर पर चीन से मांगने की तैयारी की थी। चीन इस तरह की रणनीति तैयार कर रहा है जिससे पाकिस्तान अधिक ब्याज दर पर कर्ज लेने के लिए मजबूर हो जाए।

सबसे बड़ी बात है कि सीपीईसी अथॉरिटी के चेयरमैन रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम का नाम भी भ्रष्टाचार में शामिल हैं। चीन के लिए यह एक बड़ा झटका था, क्योंकि उसने खुद मिलिट्री को साझेदार बनाया था। उसने ऐसा इसलिए किया था, क्योंकि भ्रष्टाचार का मामला सामने ना आ पाए। पाकिस्तान में इस समय राजनीतिक बवाल भी है। विपक्षी पार्टियां इमरान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है। विपक्षी दलों के गठबंधन ने एक बार फिर घोषणा की है। सरकार की पाबंदी के बावजूद विपक्षी दलों की 22 नवंबर को पेशावर में मेगा रैली होने जा रही है। गौरतलब है कि इमरान सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों का आंदोलन जारी है। विपक्ष के आंदोलन को इमरान सरकार कुचलने में लगी हुई है। लेकिन इसके बावजूद विपक्ष इमरान खान के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है।
ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...