//]]>
---Third party advertisement---

हिमाचल में बर्फबारी से कड़ाके की ठंड, 3 जिलों का माइनस में पहुंचा तापमान



हिमाचल प्रदेश में बीते 5 दिनों से हो रही बर्फबारी से शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया है। प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। नवम्बर महीने में लोगों को बर्फबारी का दीदार हो रहा है। जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों में रुक-रुक कर बर्फबारी का सिलसिला वीरवार को भी जारी रहा। शिमला से सटे कुफरी, नारकंडा, खड़ापत्थर और खदराला में भारी हिमपात हुआ है। शिमला शहर के जाखू क्षेत्र में भी हल्की बर्फबारी हुई है। प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में बर्फबारी से सामान्य जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में अच्छा हिमपात हुआ है। बीते 24 घंटों के दौरान कोठी में सर्वाधिक 60, खदराला में 20, कल्पा में 17 और कुफरी व मनाली में 10 सैंटीमीटर बर्फबारी हुई है। इस अवधि के दौरान कसौल में 50, सियोबाग में 39 व कंडाघाट में 30 मि.मी. बारिश रिकॉर्ड की गई है।


आलम यह है कि तीन जिलों का पारा शून्य से नीचे पहुंच गया है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर और कुल्लू जिलों में जहां पारा माइनस में रहा, वहीं शिमला और चम्बा जिलों में शून्य के बेहद करीब रिकॉर्ड हुआ है। राजधानी शिमला में सीजन की सबसे ठंडी रात रही। लाहौल-स्पीति के केलांग में न्यूनतम तापमान -2.6 डिग्री सैल्सियस दर्ज हुआ और राज्य का यह सबसे ठंडा स्थल रहा। इसके अलावा मनाली में -0.9, कल्पा में -0.6, डलहौजी में 0.2, शिमला में 2.8, कुफरी में 3.9, भुंतर में 5, धर्मशाला में 5.2, पालमपुर में 5.5, जुब्बड़हट्टी में 5.9, सोलन में 6.6, मंडी में 7, चम्बा में 7.2, सुंदरनगर में 8.6, पांवटा साहिब में 9, कांगड़ा में 9.8, बिलासपुर व ऊना में 10 और हमीरपुर में 10.2 डिग्री सैल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से ऊंचे क्षेत्रों में हिमपात और मैदानों में बारिश हुई है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार से राज्य भर में मौसम के साफ रहने का अनुमान है। आगामी 2 दिसम्बर तक प्रदेश में बारिश बर्फबारी की कोई संभावना नहीं है।

Post a comment

0 Comments