HRTC को पहले दिन मिला अच्छा रिपॉन्स, 35 और रूटों पर शुरू की इंटरस्टेट बस सेवा



कोरोना संकट के बीच हिमाचल से 7 माह के बाद एक बार फिर से इंटरस्टेट बस सॢवस बुधवार से शुरू हो गई है। बुधवार से शुरू हुई इंटरस्टेट बस सर्विस में पहले दिन प्रदेश के अधिकतर सभी जिलों से बाहरी राज्यों को बसें भेजी गईं। वहीं बस सर्विस शुरू होने के पहले दिन 70 से 80 प्रतिशत ऑक्यूपैंसी बसों में रही और लोगों ने हिमाचल से चंडीगढ़ तक के लिए सफर किया। वहीं चंडीगढ़ जाने वाली बसों में अन्य क्षेत्रों के लोगों ने भी सफर किया। निगम प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार जैसे बसों में ऑक्यूपैंसी बढ़ती रहेगी, प्रदेश के अन्य यूनिटों से भी बाहरी राज्यों को बसें चलेंगी।

प्रदेश के 25 यूनिटों के डिपुओं में रही चहल-पहल

बुधवार को इंटरस्टेट बस सेवा शुरू होने होने पर प्रदेश के 25 यूनिटों के डिपुओं में चहल-पहल रही और लोग भी बस स्टैंड पर दिखाई दिए। वहीं बस स्टैंड के बाईपास पर यात्रियों की संख्या भी दिखाई दी। राजधानी शिमला के आईएसबीटी में भी इंटर स्टेट बस सेवा शुरू होने के बाद चंडीगढ़ जाने वाली बसों में सवारियां दिखाई दीं। वहीं यात्रियों ने यह भी कहा कि यह बस सेवा पहले ही शुरू कर देनी चाहिए थी। बात करें राजधानी शिमला से तो देर शाम 6.30 बजे तक चंडीगढ़ तक के लिए 16 बसें भेजी गईं, जिसमें यात्रियों की संख्या भी देखी गई।
बाहरी राज्य चंडीगढ़ व पंजाब से भी 3 बसें पहुंचीं शिमला

हिमाचल से इंटरस्टेट बस सेवा शुरू होने के बाद बाहरी राज्यों से भी बसें शिमला व अन्य जिलों में जाने लगी हैं। राजधानी शिमला आईएसबीटी में पंजाब रोडवेज की 3 बसें और चंडीगढ़ रोडवेज की 1 बस शिमला पहुंची, जिनमें भी सवारियों की ऑक्यूपैंसी 60 से 70 प्रतिशत रही। वहीं शिमला से 6.30 बजे तक चंडीगढ़ की ओर बसें जाती रहीं। अधिकारियों ने बताया कि बस स्टैंड से अधिक सवारियां बाईपास व अन्य क्षेत्रों से भी बसों में चढ़ीं। पहले दिन शाम तक बेहतर ऑक्यूपैंसी मिलने के बाद एचआरटीसी ने इंटरस्टेट के बंद पड़े रूटों में से 35 और रूटों पर बस सेवा शुरू की है। अब कुल 60 रूटों पर बाहरी राज्यों बसें चलेंगी।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...