//]]>
---Third party advertisement---

हाथरस केस: विदेश में हलचल, योगी आदित्यनाथ से CM पद छीनने की मांग, महिलाओं ने UN को लिखी चिट्ठी

हाथरस केस: विदेश में हलचल, योगी आदित्यनाथ से CM पद छीनने की मांग, महिलाओं ने UN को लिखी चिट्ठी

उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक 20 साल की दलित लड़की के साथ हुई बर्बरता पर देशभर में गुस्सा है। अब इस घटना पर विदेश में भी चर्चा शुरू हो गई है। ब्रिटेन की एक सांसद ने 30 से ज्यादा महिला समूहों और दलित संस्थानों के साथ इस मामले में संयुक्त राष्ट्र (UN) से दखल देने की अपील की है। साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को उनके पद से हटाए जाने की मांग भी उठाई है।

यूएन की मानवाधिकार को महिला दलित समूह ने लिखी चिट्ठी

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बताया जा रहा है कि ब्रिटिश सांसद अपसाना बेगम ने महिला-दलित संस्थानों के साथ दुनियाभर में मौजूद अंबेडकर इंटरनेशनल मिशन को भी शामिल कर यूएन (UN) की मानवाधिकार संस्था- UNHCR को चिट्ठी लिखी है। इसमें UNHCR कमिश्नर मिशेल बैशलेट से मांग की गई है कि वो हाथरस घटना में दखल दें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करें कि वो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हटा दें।

इसके अलावा चिट्ठी में यह भी मांग की गई है कि उनकी सरकार आने के बाद हाथरस गैंगरेप केस समेत दलित महिलाओं से जुड़े जो अपराध हुए हैं, उन पर अंतर्राष्ट्रीय जांच बिठाई जाए।

चिट्ठी पर इन विदेशी नेताओं के हैं हस्ताक्षर

यूएन को लिखी गई इस चिट्ठी में ब्रिटिश सांसद जॉन मैक्डोनेल, किम जॉनसन, बेल रिबेरो-एडी और पॉउला बेकर जैसे नेताओं के हस्ताक्षर हैं। इन सांसदों ने कहा है कि हाथरस को किसी तरह के अलग अपराध की तरह नहीं, बल्कि दबी हुई जातियों और महिलाओं पर यथाक्रम हमले के तौर पर देखा जाना चाहिए।

यूपी के 3 जिलों में दलित लड़कियों के साथ हुए दुष्कर्म के मामलों को उठाया गया

चिट्ठी में यूपी के 3 अन्य जिलों में दलित लड़कियों के साथ हुए दुष्कर्म के मामलों को उठाया गया है। कहा गया है कि हाथरस कांड की पीड़िता के शव को यूपी पुलिस ने जला दिया। इसके 24 घंटे के अंदर ही बलरामपुर में एक 22 साल की महिला की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई, जबकि भदोही में एक 14 साल की दलित लड़की मृत पाई गई, उसका चेहरा खराब कर दिया गया था, और उसका सिर भी कुचला हुआ था। इसके अलावा आजमगढ़ में भी एक आठ साल की नाबालिग के साथ रेप की घटना सामने आई थी।

Post a Comment

0 Comments