//]]>
---Third party advertisement---

जानिए अक्टूबर माह में कब-कब पड़ेंगे कौन से तीज-त्योहार

जानिए अक्टूबर माह में कब-कब पड़ेंगे कौन से तीज-त्योहार

साल 2020 के अक्टूबर माह की शुरुआत पूर्णिमा से होगी. इसी महीने शक्ति का महापर्व शारदीय नवरात्र (Navratri) भी मनाया जाएगा. नवरात्रि के 9 दिनों तक मां जगदंबे की साधना-आराधना के साथ दुर्गा पूजा और विजयादशमी (Vijayadashami) का महापर्व भी मनाया जाएगा. इसी अक्टूबर माह में अमावस्या (Amavasya), पूर्णिमा (Purnima) और एकादशी (Ekadashi) की पावन तिथियां भी पड़ेंगी. आइए जानते हैं अक्टूबर माह के प्रमुख तीज-त्योहार और महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में.

नवरात्र में 9 दिन की साधना का शुभ मुहूर्त

कोई भी साधना बगैर शक्ति के पूर्ण नहीं हो सकती है. आप किसी भी देवता की पूजा करते हों लेकिन यदि आपने शक्ति की साधना नहीं की तो आपकी पूजा अधूरी मानी जाती है. इसी शक्ति की साधना का महापर्व है नवरात्रि, जो कि इस साल 17 अक्टूबर 2020 से शुरू होकर 24 अक्टूबर 2020 तक मनाया जाएगा. अधिक मास (Adhik Maas) के कारण इस साल दशहरा (Dussehra) 26 अक्टूबर 2020 को मनाया जाएगा. नवरात्र की नौ दिनों की साधना में पहले दिन कलश स्थापना का विशेष महत्व है. इस साल कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 17 अक्टूबर 2020 को प्रात:काल 06:25 से 08:45 तक रहेगा. यदि आप किसी कारणवश कलश को शुभ मुहूर्त में स्थापित न कर पाएं तो अभिजीत मुहूर्त (प्रात: 11:43-दोपहर 12:29 तक) में भी स्थापित कर सकते हैं. नवरात्रि में जो लोग अष्टमी तक व्रत रखते हैं, उन्हें नवमी यानी 24 अक्टूबर 2020 की सुबह 07:00 बजे से पहले पारण करना होगा, जबकि नौ दिनों तक व्रत रखने वालों को दशमी यानी 25 अक्टूबर 2020 की सुबह 07:00 बजे से पहले पारण करना होगा. मां दुर्गा का विसर्जन 25 अक्टूबर को होगा.

एकादशी व्रत

अक्टूबर महीने की 13 तारीख को परम एकादशी और 27 तारीख को पापांकुशा एकादशी का व्रत पड़ेगा. मान्यता है कि इस पावन एकादशी के दिन भगवान विष्णु और भगवान शिव की पूजा करने पर सुख-समृद्धि के साथ बैकुंठधाम की प्राप्ति होती है.

प्रदोष व्रत

अक्टूबर माह की 14 एवं 28 तारीख को भगवान शिव और माता पार्वती को समर्पित प्रदोष व्रत रखा जाएगा. हिंदू पंचांग के अनुसार, त्रयोदशी तिथि के दिन प्रदोष व्रत पड़ता है. किसी भी दिन सूर्यास्त और रात्रि के संधिकाल को प्रदोष कहते हैं. प्रदोष काल में की जाने वाली शिव साधना अत्यंत ही शुभ और फलदायी होती है.

दिनांक दिन तीज-त्योहार

01 अक्टूबर 2020, गुरुवार, आश्विन अधिक पूर्णिमा व्रत

02 अक्टूबर 2020, शुक्रवार, गांधी जयंती

05 अक्टूबर 2020, सोमवार, संकष्टी चतुर्थी

13 अक्टूबर 2020, मंगलवार, परम एकादशी

14 अक्टूबर 2020, बुधवार, प्रदोष व्रत

15 अक्टूबर 2020, गुरुवार, मासिक शिवरात्रि

16 अक्टूबर 2020, शुक्रवार, अमावस्या

17 अक्टूबर 2020, शनिवार, शरद नवरात्रि , आश्विन शुक्ल प्रतिपदा, घट पूजन एवं मां शैलपुत्री की पूजा, तुला संक्रांति

18 अक्टूबर 2020, रविवार, द्वितीया, मां ब्रह्मचारिणी की पूजा

19 अक्टूबर 2020, सोमवार, तृतीया, मां चंद्रघंटा की पूजा

20 अक्टूबर 2020, मंगलवार, चतुर्थी, मां कुष्मांडा की पूजा

21 अक्टूबर 2020, बुधवार, पंचमी, मां स्कंदमाता की पूजा, कल्परम्भ

22 अक्टूबर 2020, गुरुवार, षष्ठी एवं सप्तमी, मां कात्यायनी तथा मां कालरात्रि की पूजा, नवपत्रिका पूजा

23 अक्टूबर 2020, शुक्रवार, अष्टमी, मां महागौरी की पूजा


24 अक्टूबर 2020, शनिवार, दुर्गा महानवमी पूजा, मां सिद्धिदात्री पूजा

25 अक्टूबर 2020, रविवार, दशमी, नवरात्रि पारण, विजयादशमी, दुर्गा विसर्जन

26 अक्टूबर 2020, सोमवार, दुर्गा विसर्जन

27 अक्टूबर 2020, मंगलवार, पापांकुशा एकादशी

28 अक्टूबर 2020, बुधवार, प्रदोष व्रत

30 अक्टूबर 2020, शुक्रवार, कोजागर पूजा

31 अक्टूबर 2020, शनिवार, अश्विन पूर्णिमा व्रत

Post a Comment

0 Comments