//]]>
---Third party advertisement---

शादी के बाद महिलाओं का वजन बढ़ने के पीछे क्या होती हैं वजह, बचने के उपाय भी जानें

शादी के बाद महिलाओं का वजन बढ़ने के पीछे क्या होती हैं वजह, बचने के उपाय भी जानें

शादी के बाद महिलाओं का वजन बढ़ना सामान्य बात है. इसके पीछे कई कारक जिम्मेदार होते हैं. वजन के बढ़े कारणों को जानकर मामूली टिप्स से शरीर के बोझ को हल्का किया जा सकता है.

करीब हर दिन बाहर खाना

नवदंपति आम तौर पर बाहर या रिश्तेदारों के यहां खाना खाते हैं और दोस्तों का पार्टी देना हर दिन का रूटीन बन जाता है. जिसकी वजह से घर का बना खाना खाने का मौका बहुत मुश्किल से मिल पाता है. दोस्तों, परिजनों के साथ रेस्टोरेंट जाना घर के खाने से आपको दूर कर देता है.

फैट से भरपूर फूड का सेवन

शादी के बाद नई नवेली दुल्हन किचन में जाना शुरू करती है. उसे अपने पति को खुश करने के लिए पिज्जा, केक, बर्गर घर पर बनाना पड़ता है. अपने पार्टनर या पारिवारिक सदस्यों को प्रभावित करने के चक्कर में ज्यादातर महिलाएं स्वास्थ्य फैक्टर भूल जाती हैं और इस तरह वजन बढ़ानेवाले फूड का सेवन रोजाना करने लगती हैं.

शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं रहना

शादी के शुरुआती दिनों में पत्नी अपने पति के साथ ज्यादा समय बिताती है. उसके साथ घर पर रहने या यात्रा करने को प्राथमिकता देती है. जिसके चलते पत्नी को मुश्किल से ही व्यायाम या चहलकदमी करने का समय मिल पाता है. इसका असर उसके स्वास्थ्य पर नकारात्मक पड़ता है.

शादी के बाद वजन पर कैसे पाएं काबू?

एक साथ चहलकदमी को जाएं

शादी के शुरू में हो सकता है आपको जिम जाकर पसीना बहाने का मौका न मिल रहा हो. शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने का एक सरल उपाय चहलकदमी भी है. रोजाना अपने शरीर को चहलकदमी से सक्रिय बनाए रखें. अगर आपको सुबह में जल्दी उठने की आदत है तो पार्टनर के साथ बाहर जाएं या फिर डिनर के बाद कुछ देर टहलें.

योग क्लास में शामिल होना मुफीद

अगर आप घर से बाहर नहीं जाना चाहती हैं तो वर्चुअल योग क्लास में शामिल हो सकती हैं. महामारी की वजह से सीखने का ऑनलाइन रुजहान लोगों में जबरदस्त पनपा है. अगर आप 30 मिनट के लिए भी योग करें तो आपके लिए बड़ा फायदा होगा. आप अपने पार्टनर को भी अपने साथ शामिल कर सकती हैं.

खान-पान पर जरूरी ध्यान दें

नवदंपति को शुरू में खान-पान पर ध्यान देने का समय नहीं मिल पाता है. दावत, पार्टी या आयोजनों में उन्हें बुलाया जाता है. लेकिन नई नवेली दुल्हन को खाने में परोसी जानेवाले फूड पर विचार करना होगा. उन्हें हरसंभव फैटी फूड के सेवन से बचना और खाने के स्वस्थ विकल्पों को शामिल करना होगा. जहां तक हो सके उन्हें बाहर का खाना बंद कर देना चाहिए. अगर बाहर जाएं भी तो पिज्जा के ऑर्डर के बजाय सलाद, सूप और हेल्दी सैंडविच इस्तेमाल करें. इसके अलावा रोजाना 30 मिनट के लिए भी व्यायाम करने से शरीर का वजन संतुलित रहेगा. खाने में जरूरी पौष्टिक तत्वों और विटामिन को शामिल करने के अलावा फैटी फूड्स से परहेज जादुई असर करेगा.

Post a Comment

0 Comments