//]]>
---Third party advertisement---

बड़ी चूक: पीएम मोदी के संपर्क में आए थे कोरोना संक्रमित विधायक से मिले सीएम और मंत्री, मचा हड़कंप

कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी, सीएम जयराम, राकेश पठानिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले सार्वजनिक कार्यक्रम में हिमाचल सरकार से बड़ी चूक हो गई है। बीते 3 अक्तूबर को अटल टनल रोहतांग के उद्घाटन के लिए आए पीएम मोदी के संपर्क में रहे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और वन मंत्री राकेश पठानिया कोरोना पॉजिटिव आए कुल्लू के बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी के प्राइमरी कांटेक्ट में थे। स्वास्थ्य विभाग को शौरी के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट टनल उद्घाटन कार्यक्रम से एक दिन पहले 2 अक्तूबर को ही मिल गई थी।

बावजूद इसके हिमाचल सरकार की इस बड़ी चूक ने पीएम मोदी के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर भी कोरोना का संकट खड़ा कर दिया है। इससे हिमाचल में अब हड़कंप मच गया है।  मोदी के साथ मंच साझा करने वाले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने खुद क्वारंटीन है। उन्होंने बताया कि उन्हें शौरी के पॉजिटिव होने की जानकारी 3 अक्तूबर को मिली थी। उन्होंने बताया कि अभी तक प्रधानमंत्री कार्यालय को इसकी जानकारी नहीं दी गई है।  वहीं, अटल टनल कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी से नजदीक से बात करने वाले वन मंत्री राकेश पठानिया भी संक्रमित विधायक के संपर्क में आए थे। वह भी आइसोलेट हो गए हैं।

पठानिया ने कहा कि शौरी के पॉजिटिव आने की जानकारी मुख्यमंत्री के क्वारंटीन होने के बाद मिली है। शौरी से दूर से मुलाकात हुई थी और हम दोनों ने ही मास्क लगाए थे। फिर भी कोविड प्रोटोकॉल के तहत खुद को क्वारंटीन कर लिया है। मुख्यमंत्री, मंत्री के क्वारंटीन होने के बाद सीएम के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, भाजपा के संगठन महामंत्री पवन राणा समेत आधा दर्जन से ज्यादा नेता भी क्वारंटीन हो गए हैं। मोदी के साथ मंच साझा करने वाले शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा है कि उन्होंने विधायक से मुलाकात नहीं की थी। इस वजह से वह अभी तक क्वारंटीन नहीं हुए हैं।

Post a Comment

0 Comments