//]]>
---Third party advertisement---

सामने वाले का दिल जीतना है तो चाणक्य की इन बातों को कभी न भूलें

सामने वाले का दिल जीतना है तो चाणक्य की इन बातों को कभी न भूलें

चाणक्य शिक्षक होने के साथ साथ एक श्रेष्ठ प्रबुद्ध व्यक्ति भी थे. चाणक्य को शिक्षा के साथ कई अन्य विषयों की भी गहरी जानकारी थे. चाणक्य अर्थशास्त्र, राजनीति शास्त्र, कूटनीति और समाज शास्त्र की भी विशेष समझ और जानकारी रखते थे. चाणक्य विश्व प्रसिद्ध तक्षशिला विश्वविद्यालय के शिक्षक थे. चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को अपने व्यवहार को लेकर हमेशा सजग रहना चाहिए.

चाणक्य का मानना था कि व्यक्ति को हमेशा ऐसा व्यवहार करना चाहिए जो सामने वाले को प्रभावित करने की क्षमता रखता है. लोगों में यह इच्छा सदैव रहती है कि सामने वाला व्यक्ति उनसे प्रभावित हो. लेकिन सामने वाले व्यक्ति को प्रभावित करना सरल कार्य नहीं है बल्कि ये एक जटिल और चुनौती पूर्ण कार्य है. लोगों को प्रभावित करने के लिए व्यक्ति को अपने आचार और विचार में परिवर्तन लाना होता है. सामने वाला व्यक्ति आपकी बातों से प्रभावित हो इसके लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

विषय से नहीं भटकना चाहिए

चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को जब महत्वपूर्ण बात करनी हो तो शब्दों का चयन और वार्ता का विषय क्या है इस पर गंभीर रहना चाहिए. अक्सर लोग विषय से भटक जाते हैं जिस कारण सामने वाले व्यक्ति पर गलत प्रभाव पड़ता है. इसलिए महत्वपूर्ण बैठक में हमेशा पूरी तैयारी के साथ बैठना चाहिए और जब आवश्यकता हो तभी अपनी बात को प्रस्तुत करना चाहिए.

विनम्रता के साथ अपनी बात को रखें

चाणक्य के अनुसार सामने वाले व्यक्ति को पूरा सम्मान देते हुए अपनी बात को बहुत विनम्रता के साथ कहना चाहिए. किसी भी सूरत में विनम्रता का त्याग नहीं करना चाहिए. विनम्रता व्यक्ति को श्रेष्ठ बनाती है.

पूर्ण तैयारी के साथ बात करें

चाणक्य के अनुसार जब भी व्यक्ति को विशेष या महत्वपूर्ण वार्ता करनी हो तो पूर्ण तैयारी करन लेनी चाहिए. इससे आप दूसरों को प्रभावित करने में सफल रहेंगे. विषय से बाहर नहीं जाना चाहिए, ये तभी संभव होगा जब आप विषय का बेहतर ढंग से अध्ययन करेंगे.

Post a Comment

0 Comments