//]]>
---Third party advertisement---

मानसिक रोगी बेटे ने मां को पत्थरों से कुचलकर मार डाला; एक साल पहले मां इसी बेटे की खातिर पति और परिवार से अलग रहने आ गई थी

मानसिक रोगी बेटे ने मां को पत्थरों से कुचलकर मार डाला; एक साल पहले मां इसी बेटे की खातिर पति और परिवार से अलग रहने आ गई थी

जिन पत्थरों से मां का सिर कुचला था, वह पास में ही रखे थे और उन पर खून भी लगा हुआ है।

शिवपुरी में अपनी मां की हत्या करने वाले मानसिक मंदित आरोपी बेटे को पुलिस पकड़ कर ले गई है।

सुबह घर के बाहर सिर कुचली लाश मिली और बेटा घर के अंदर आराम से चारपाई पर लेटा हुआ था

जिन पत्थरों से मां का सिर कुचला था, वह पास में रखे थे, पुलिस आरोपी बेटे को पकड़ ले गई है

शिवपुरी में गुरुवार को सुबह मानसिक रोगी बेटे ने अपनी मां की सिर कुचलकर हत्या कर दी और लाश को घर के बाहर फेंक दिया। ये वही बेटा था, जिसकी खातिर मां एक साल पहले पति और परिवार से अलग रहने आ गई थी। सुबह लोगों ने देखा कि घर के बाहर सिर कुचली लाश मिली है, जिन पत्थरों से मां का सिर कुचला था, उन्हें पास ही रखकर बेटा घर के अंदर आराम से चारपाई पर लेटा हुआ था।

घटना शिवपुरी के कलाम सौंफ फैक्ट्री इलाके की है, जहां 70 वर्षीय हजीरा अपने मानसिक रोगी बेटे 35 वर्षीय आरिफ उर्फ नूरी के साथ रहती थी। रात को उसके बेटे ने अपनी मां हजीरा का पत्थर से सिर कुचल दिया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। शव को इतना वीभत्स तरीके से कुचला था कि पहचान करना मुश्किल हो रहा था। मारने के बाद बेटे ने शव को घर के बाहर फेंक दिया। सुबह लोगों ने देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मानसिक रोगी बेटे को पुलिस अपने साथ ले गई है।

बेटे के लिए एक साल पहले परिवार से अलग रहने आ गई थी हजीरा

मानसिक रोगी बेटा नूरी की हरकतों से परेशान होकर हजीरा बेटे को लेकर अपने पति मुन्नालाल खान से अलग रहने लगी थी। नूरी के भाई रईस ने बताया कि नूरी अपनी भाभियों से गंदी हरकतें करता था और बच्चों से मारपीट करता था। परिवार में कलह न हो, इसलिए पिछले साल मां हजीरा उसे लेकर फैक्ट्री इलाके में आ गई थी और बेटे को लेकर रह रही थी। जबकि हम लोग पापा मुन्नालाल खान के साथ गौशाला क्षेत्र में रहते हैं।

Post a Comment

0 Comments