//]]>
---Third party advertisement---

आज का दिनः मंगलवार 6 अक्टूबर 2020, अशुभ मंगल दोष से मुक्ति के लिए क्या करें?

आज का दिनः मंगलवार 6 अक्टूबर 2020, अशुभ मंगल दोष से मुक्ति के लिए क्या करें?

* मंगलवार और नौ अंक से प्रभावित श्रद्धालुओं को प्रतिदिन संभव नहीं हो तो प्रति मंगलवार श्रीराम दरबार और महावीर हनुमान की पूजा-अर्चना करनी चाहिए, इससे मंगल दोष समाप्त होते हैं और जीवन में सुखशांति आती है.

* जिनका जन्म मंगलवार को हुआ हो, किसी भी पक्ष की नवमी तिथि को हुआ हो या फिर 9, 18 या 27 तारीख को हुआ हो वे मंगल के प्रभाव क्षेत्र में आते हैं. कई लोगों की जन्म पत्रिका में मंगल दोष होता है.

* शुभ मंगल, भाई और रक्त संबंधियों से मधुर संबंध देता है तो भूमि आसानी से प्राप्त होती है. अशुभ मंगल के परिणाम इसके उलट होते हैं. अशुभ मंगल ऋणग्रस्त करता है और रक्त दोष का कारण भी होता है.

* शुभ मंगल की शुभता बढ़ाने और अशुभ मंगल दोष से मुक्ति के लिए



प्रतिदिन गोस्वामी तुलसीदास रचित श्रीराम स्तुति करें…

श्रीरामचन्द्र कृपालु भजमन हरणभवभयदारुणं.

नवकञ्जलोचन कञ्जमुख करकञ्ज पदकञ्जारुणं ॥1॥

कन्दर्प अगणित अमित छवि नवनीलनीरदसुन्दरं.

पटपीतमानहु तडित रुचिशुचि नौमिजनकसुतावरं ॥2॥

भजदीनबन्धु दिनेश दानवदैत्यवंशनिकन्दनं.

रघुनन्द आनन्दकन्द कोशलचन्द्र दशरथनन्दनं ॥3॥

शिरमुकुटकुण्डल तिलकचारु उदारुअङ्गविभूषणं.

आजानुभुज शरचापधर सङ्ग्रामजितखरदूषणं ॥4॥

इति वदति तुलसीदास शंकरशेषमुनिमनरञ्जनं.

ममहृदयकञ्जनिवासकुरु कामादिखलदलगञजनं ॥5॥

मनु जाहि राचेउ मिलिहि सो बरु सहज सुन्दर सावरो .

करुना निधान सुजान सीलु सनेहु जानत रावरो ॥6॥

एही भाँति गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषीं अली.

तुलसी भवानी पूजी पुनि-पुनि मुदित मन मन्दिर चली ॥7॥

जानी गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि.

मञ्जुल मङ्गल मूल बाम अङ्ग फरकन लगे ॥8॥

॥ सियावर रामचन्द्र की जय ॥

* श्रीराम की इस प्रार्थना के बाद हनुमान चालीसा का पाठ करें, मंगल के सारे अमंगल दूर होंगे!

– आज का राशिफल –

मेष राशि:- मेष राशि के जातक छुट्टी का फायदा उठाते हुए कामकाज के बजाय मनोरंजन की तरह ज्यादा फोकस करेंगे. साथ ही साथ अपने कामकाज से संबंधित जरूरी जानकारियां भी जुटाने का प्रयास करेंगे. फाइनेंस के मामले में दिन अच्छा है. कुछ जातक उधारी वसूलने के लिए घर से बाहर का रुख कर सकते हैं.

वृष राशि:- वृष राशि के जातकों के सभी काम आसानी से पूरे हो जाएंगे. पारिवारिक सदस्यों के साथ सुखद समय बिताने का अवसर मिलेगा. आर्थिक दृष्टिकोण से सामान्य दिन है. भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए सुरक्षित निवेश के लिए प्रयासरत रहेंगे जो आगे चलकर फायदेमंद रहेगा.

मिथुन राशि:– मिथुन राशि के जातकों कलात्मक क्षमता में वृद्धि होगी. मीडिया पब्लिकेशन से जुड़े हुए जातकों को भी अपने काम से लाभ होने की संभावना बन रही है. अपनी समझदारी पूर्ण बातचीत के द्वारा लोगों से अपने काम करवाने में कामयाब रहेंगे. रुपये-पैसों के मामले में भी दिन अच्छा है. उम्मीद से अधिक धन प्राप्ति के योग बनते हैं.

कर्क राशि:- कर्क राशि के जातकों को अपने कार्यक्षेत्र में कुटुंबीजनों का पूर्ण सहयोग मिलेगा. उनके अनुभव का लाभ लेकर कार्यक्षेत्र से संबंधित कुछ गूढ़ बातों को आप समझ पाएंगे जो कि आगे जाकर लाभदायक सिद्ध होगी. आर्थिक दृष्टिकोण से भी अच्छा समय है. प्राप्त धन को संचित करने में कामयाब रहेंगे.

सिंह राशि:- सिंह राशि के जातकों के मन में छुट्टी के दिन भी कामकाज से संबंधित बातें ही चलती रहेंगी. कार्यस्थल को बेहतर व सुविधापूर्वक बनाने तथा नए अवसर प्राप्त करने की नीतियों पर फोकस करेंगे. आर्थिक दृष्टिकोण से समय सामान्य है. मेहनत के अनुरूप ही आपको धन लाभ होगा.

कन्या राशि:- कन्या राशि के जातक कामकाज से संबंधित छोटी-छोटी बारीकियों पर ध्यान देंगे. कोई प्रेजेंटेशन भी आज आप तैयार कर सकते हैं. कमाई के लिहाज से दिन अच्छा नहीं है. कोई बड़ा खर्चा आपको परेशान कर सकता है. सोच-समझकर धन खर्च करें.

तुला राशि:- तुला राशि के जातक आज अपने कार्य क्षेत्र और परिवार दोनों के बीच बैलेंस बनाते हुए कार्य करेंगे. जरूरी कागजात को व्यवस्थित करने पर आज आपका फोकस रहेगा. आर्थिक दृष्टिकोण से महालक्ष्मी की विशेष कृपा आज आप पर बनी रहेगी समृद्धि बढ़ेगी.

वृश्चिक राशि:- वृश्चिक राशि के जातकों को कार्यक्षेत्र में अपने सहयोगियों का पूर्ण सहयोग मिलेगा. बातचीत से सभी काम आसानी से पूरे हो जाएंगे. कामकाज के साथ-साथ आपका फोकस मौज मस्ती की तरफ भी रहेगा.पढ़ाई पर विशेष ध्यान देना होगा. प्रेम प्रसंग मे जीवन बर्बाद नही करें. कमाई के लिहाज से अच्छा दिन है. विदेशी कारोबार से जुड़े हुए लोगों को भी लाभ होगा.

धनु राशि:- धनु राशि के जातकों को वरिष्ठजनों के साथ बातचीत करते समय हुए अपनी सीमाओं का ध्यान रखना चाहिए. फिजूल वाद-विवाद में फंस सकते हैं. मानसिक शांति के लिए मेडिटेशन करना अच्छा रहेगा. आर्थिक दृष्टिकोण से समय आपके अनुकूल है. जमीन जायदाद से संबंधित काम के आगे बढ़ने की भी संभावना है.

मकर राशि:- मकर राशि के जातकों के काम में विघ्न आ सकते हैं. काम को समय से पूरा करने में संघर्ष करना पड़ सकता है. आर्थिक दृष्टिकोण से भी समय बहुत ज्यादा उपयुक्त नहीं है. परिश्रम अधिक रहेगा लेकिन प्राप्तियां उसके अनुरूप नहीं होंगी. खर्च बहुत ज्यादा रहेंगे.

कुम्भ राशि:-  राशि के जातकों के अपने पार्टनर के साथ संबंध मजबूत बनेंगे. लंबे समय से चले आ रहे विवाद का हल निकालने में कामयाब रहेंगे. भाग्य का पूर्ण सहयोग आज आपको मिल रहा है. सही दिशा में प्रयास करने से लाभ होगा. कंजूसी से धन खर्च करेंगे.

मीन राशि:- मीन राशि के जातक अपने कार्य क्षेत्र को व्यवस्थित करने का प्रयास करेंगे. अवांछित चीजों को हटाने के लिए काम करेंगे सेहत को लेकर भी आज सतर्क रहेंगे और स्वास्थ्य रहने के लिए जरूरी सामान पर धन खर्च करने का योग भी बनता है. कमाई के लिहाज से दिन सामान्य है.

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

– मंगलवार का चौघडिय़ा –

दिन का चौघडिय़ा          रात्रि का चौघडिय़ा

पहला- रोग                  पहला- काल

दूसरा- उद्वेग                 दूसरा- लाभ

तीसरा- चर                  तीसरा- उद्वेग

चौथा- लाभ                    चौथा- शुभ

पांचवां- अमृत                 पांचवां- अमृत

छठा- काल                      छठा- चर

सातवां- शुभ                    सातवां- रोग

आठवां- रोग                    आठवां- काल

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है.

* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.

* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है!

पंचांग

मंगलवार, 6 अक्टूबर, 2020
शक सम्वत 1942 शार्वरी
विक्रम सम्वत 2077
काली सम्वत 5122
दिन काल 11:43:49
मास आश्विन (अधिक)
तिथि चतुर्थी – 12:34:30 तक
नक्षत्र कृत्तिका – 17:54:26 तक
करण बालव – 12:34:30 तक, कौलव – 25:44:40 तक
पक्ष कृष्ण
योग सिद्धि – 24:53:27 तक
सूर्योदय 06:16:56
सूर्यास्त 18:00:46
चन्द्र राशि वृषभ
चन्द्रोदय 20:48:59
चन्द्रास्त 09:54:00
ऋतु शरद

Post a Comment

0 Comments