---Third party advertisement---

सिर्फ 2 बूंद गर्म पानी के साथ मौत को छोड़ सभी बीमारियाँ जड़ से ख़त्म




सोडियम, कैल्शियम और आयरन भरपूर कलौंजी का इस्तेमाल कई तरह की दवाईयां बनाने के लिए किया जाता है। कलौंजी खाने से भी कई बीमारियां दूर हो जाती है लेकिन आज हम आपको इसके तेल के फायदों के बारे में बताने जा रहें है। कार्बोहाइडे्ट, पोटेशियम, फाइबर, विटामिन्स के गुणों से भरपूर कलौंजी का तेल कई बीमारियों को दूर करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीआॅक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण कैंसर जैसी बीमारी से आपको बचाता है। मंहगी दवाइयों पर पैसे खर्च करने की बजाए आप भोजन में कलौंजी का तेल इस्तेमाल करके कई प्रॉब्लम को दूर भी कर सकते है और यह आपको कई बीमारियों से बचाता भी है। तो आइए जानते है कलौंजी के तेल से दूर होने वाली समस्याओं के बारे में।

रामबाण औषधि है कलौंजी का तेल

कलौंजी का तेल कैंसर, डायबीटिज़, सर्दी-जुकाम, पीलिया, बवासीर, मोतियाबिंद की आरंभिक अवस्था, कान के दर्द, सफेद दाग, लकवा, माइग्रेन, खांसी, बुखार, गंजापन जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखता है.


1- कैंसर

कलौंजी का तेल शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को विकसित होने से रोकता है और उन्हें नष्ट करता है. यह कैंसर रोगियों में स्वस्थ कोशिकाओं की रक्षा करता है.

कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को कलौंजी के तेल की आधी बड़ी चम्मच को एक गिलास अंगूर के रस में मिलाकर दिन में तीन बार लेना चाहिए.

2 – खांसी और दमा

खांसी और दमा की शिकायत होने पर छाती और पीठ पर कलौंजी के तेल की मालिश करें, तीन चम्मच कलौंजी का तेल रोज़ पीएं और पानी में तेल डालकर उसका भाप लें.

3 – डायबीटिज़

डायबीटिज़ के मरीज़ों को एक कप कलौंजी के बीज, एक कप राई, आधा कप अनार के छिलके को पीस कर चूर्ण बना लेना चाहिए. आधे चम्मच कलौंजी के तेल के साथ इस चूर्ण को रोज़ नाश्ते के पहले एक महीने तक लेने से आराम मिलता है.

4 – किडनी स्टोन

पाव भर पिसी हुई कलौंजी को शहद में अच्छी तरह से मिला लें. इसमें से दो चम्मच मिश्रण और एक चम्मच कलौंजी के तेल को एक कप गर्म पानी के साथ मिलाकर रोज़ नाश्ते से पहले लें. गुर्दे की पथरी से परेशान लोगों को कलौंजी का तेल फायदा करता है.

5 – ह्दय रोग और ब्लड प्रेशर

जब भी कोई गर्म पेय लें, उसमें एक चम्मच कलौंजी का तेल मिला लें. तीन दिन में एक बार पूरे शरीर पर तेल की मालिश करके आधा घंटा धूप का सेवन करें. लगातार एक महीने तक ऐसा करने से पीड़ित को आराम मिलता है.

6 – कमर दर्द और गठिया

कलौंजी के तेल को हल्का गर्म करके जहां दर्द हो वहां मालिश करें. और एक चम्मच कलौंजी का तेल दिन में तीन बार सेवन करें. 15 दिन मे बहुत आराम मिलेगा.


ऐसी ही अन्य खबरों के लिए अभी हमारी वेबसाइटHimachalSe पर जाएँ

Post a comment

0 Comments