//]]>
---Third party advertisement---

कोविड-19 के आयुर्वेद आधारित 58 परीक्षणों का तीन महीने के दौरान हुआ पंजीकरण

कोविड-19 के आयुर्वेद आधारित 58 परीक्षणों का तीन महीने के दौरान हुआ पंजीकरण

आयुष मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि ‘क्लीनिकल ट्रायल रजिस्ट्री ऑफ इंडिया में एक मार्च से 25 जून के बीच कोविड-19 के लिए आयुर्वेद से जुड़े 58 नए प्रायोगिक परीक्षणों का पंजीकरण हुआ। यह राष्ट्र स्तर पर आयुष क्षेत्र में तथ्य आधारित अध्ययनों के बढ़ते रूझान को दिखाता है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस साल अगस्त में आयी खबरों में कहा गया था कि ‘क्लीनिकल ट्रायल रजिस्ट्री ऑफ इंडिया (सीटीआरआई) में पंजीकृत 203 प्रायोगिक परीक्षणों में 61.5 प्रतिशत आयुष विषय के थे। मंत्रालय ने कहा कि इन परीक्षणों से शोधकर्ताओं को भविष्य के अगले कदम को लेकर रणनीति बनाने में मदद मिलेगी और लोगों को कोविड-19 को रोकने में आयुर्वेद की अहमियत का भी पता चलेगा। मंत्रालय ने कहा कि परीक्षण पूरा हो जाने पर परिणाम का जल्द से जल्द प्रकाशन किया जाएगा ताकि नीति-निर्माताओं को इसका फायदा मिले।

Post a Comment

0 Comments