कोरोना काल के बीच हजारों छात्रों ने दी NEET की परीक्षा, ये ड्रैस कोड था लागू

कोरोना काल के बीच हजारों छात्रों ने दी NEET की परीक्षा, ये ड्रैस कोड था लागू

कोविड-19 और यूजीसी की गाइडलाइन के अनुसार मेडिकल व डैंटल कॉलेजों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्स में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा एनईईटी (नीट) (यूजी) 2020 रविवार को हजारों छात्रों ने दी। परीक्षा दोपहर 2 से सायं 5 बजे तक चली। प्रदेश में कुल 35 परीक्षा केंद्र स्थापित किए गए थे। इनमें से 17 हमीरपुर और 19 जिला शिमला में स्थापित थे। जिला शिमला में 4500 के करीब छात्रों ने परीक्षा दी जबकि हमीरपुर में 6055 छात्रों ने परीक्षा दी। परीक्षा केंद्रों में छात्रों को 11 से 1.30 बजे तक ही अंदर जाने दिया। सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए थे। सभी को जूते की जगह स्लीपर पहनकर प्रवेश होने दिया। लड़कियों को कंगन, अंगूठी, झुमका, कान में पहनने की चीजें, पिन, चेन, हार व बैज को भी बाहर ही उतारना पड़ा।

स्टूडैंट्स को एक एडमिट कार्ड, आईडी प्रूफ, एक पासपोर्ट साइज फोटो, सैनिटाइजर, मास्क व पानी की बोतल के अलावा किसी भी चीज को अंदर नहीं ले जाने दिया गया। नैशनल टैस्टिंग एजैंसी द्वारा पहले ही गाइडलाइंस जारी की गई थीं और ड्रैस कोड को लागू किया गया है, जिसमें कहा गया था कि उम्मीदवार हल्के कलर की हाफ बाजू की शर्ट पहनकर परीक्षा केंद्र में आएं। उसमें किसी तरह के बड़े बटन, बैज या कोई फूल न लगे हों।

केंद्र में ही मिले पैन
नैशनल टैस्टिंग एजैंसी ने इतनी सतर्कता बरती थी कि परीक्षा केंद्र में कोई भी छात्र अपना पैन लेकर नहीं गया था, ऐसे में परीक्षा हाल में नैशनल टैस्टिंग एजैंसी द्वारा ही पैन दिए गए। इस संबंध में पहले ही नैशनल टैस्टिंग एजैंसी ने निर्देश दे दिए थे। नैशनल टैस्टिंग एजैंसी ने एक खास तरह का पैन तैयार करवाया था, जो बाजार में उपलब्ध नहीं था।

मैरिट के आधार पर मिलेगा प्रवेश
हिमाचल प्रदेश में स्थित सभी सरकारी, गैर-सरकारी मैडीकल व डैंटल कालेजों सहित बीएएमएस व बीएचएमएस में प्रवेश नैशनल एलिजिबिलिटी कम एन्ट्रैंस टैस्ट (एनईईटी) की मैरिट के आधार पर दिया जाएगा। एमबीबीएस व बीडीएस पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय द्वारा अलग से कोई प्रवेश परीक्षा आयोजित नहीं करवाई जा रही है। नैशनल टैस्टिंग एजैंसी द्वारा यह परीक्षा ली गई। अब शीघ्र ही रिजल्ट घोषित किया जाएगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...