Kangra/Baijnath: बिलिंग में 21 सिंतबर से शुरु होंगी व्यवसायिक उड़ाने

विश्व प्रसिद्ध बीड़-बिलिंग बनी हादसों की घाटी, यहां Free Flying हो रही  भगवान भरोसे - world famous beed billing valley of accidents
Himachalse: बिलिंग में 21 सिंतबर से शुरु होंगी व्यवसायिक उड़ाने- पैराग्लाइडिंग के लिए विश्व प्रसिद्ध बीड़-बिलिंग घाटी में उड़ानों का सिलसिला 21 सितंबर से ही शुरू हो जाएगा। पैराग्लाइडिंग पर 15 जुलाई से 15 सितंबर तक पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहता है। सरकारी आदेशों के तहत पायलट 15 सितंबर से उड़ाने शुरू कर सकेंगे, लेकिन बिलिंग से दो किलोमीटर पीछे कंक्रीट का कार्य जारी होने के कारण मार्ग पर 20 सितंबर तक आवाजाही बंद रहेगी। 

घाटी में अक्तूबर माह से ही पर्यटकों के आने की उम्मीद की जा रही है। वहीं बिलिंग स्थित टेक ऑफ प्वाइंट पर सुचारु रूप से पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश पर्यटन विभाग ने जल शक्ति विभाग के पास 98 लाख की राशि जमा करवाई है। पर्यटन विभाग की जिला अधिकारी सुनयना शर्मा ने एसडीएम छवि नांटा और विभागीय प्रतिनिधियों की उपस्थिति में बिलिंग का दौरा करके रास्ते के कार्य व अन्य गतिविधियों की जानकारी ली। 

बिलिंग में फ्लाइंग जोन होने के कारण पानी को लिफ्ट करने की संभावनाएं न के बराबर हैं। पानी को 12 किलोमीटर दूर स्थित उहल खड्ड से बिलिंग तक लाने के लिए नए सिरे से प्रपोजल तैयार किया जा रहा है। जल शक्ति विभाग के अनुसार इस योजना पर करीब डेढ़ करोड़ की राशि व्यय होने की उम्मीद है। इस कार्य के पूरा होने में एक वर्ष से अधिक समय लगेगा। जल शक्ति विभाग के एसडीओ अमित चौधरी ने बताया कि बिलिंग में पेयजल योजना का 98 लाख रुपये विभाग के पास जमा है। अब नई योजना के तहत उहल खड्ड से पानी की व्यवस्था की जाएगी। जिला पर्यटन अधिकारी सुनयना शर्मा ने बताया कि 15 सितंबर से पायलट उड़ान भर सकेंगे।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...