डीसी Kangra कार्यालय में पसरा सन्नाटा

silence in dc kangra office

जिला मुख्यालय धर्मशाला स्थित उपायुक्त कार्यालय में मंगलवार को सन्नाटा पसरा रहा। उपायुक्त कांगड़ा के सोमवार को कोरोना संक्रमित आने के बाद मंगलवार को उपायुक्त कार्यालय में लोगों की आवाजाही नाम मात्र ही रही। उपायुक्त कार्यालय की धरातल मंजिल पर स्थित सुगम केंद्र में रहने वाली भीड़ भी मंगलवार को नदारद रही। केवल इक्का-दुक्का लोग ही कार्यालय में काम करवाने के लिए पहुंचे। 

लेकिन मंगलवार को कार्यालय में पूरी एहतियात के साथ इनका प्रवेश करवाया गया। नगर निगम कर्मचारियों ने जिलाधीश कार्यालय पहुंच कर कार्यालय व आस पास के क्षेत्र को सैनिटाइज किया। यही नहीं कार्यालय में जहां पर स्टांप वैंडर को बैठाया जाता है वह कक्ष भी बंद रहा। कोई भी स्टांप वैंडर नहीं आया और न ही यहां पर बैठने वाले अधिवक्ता व अन्य लोगों ने शिरकत की। इस क्षेत्र को वीरवार तक बंद रखा गया है तथा अब शुक्रवार को स्टांप वेंडर कार्यालय में आएंगे।

सीधे तौर पर 100 से ज्यादा लोगों से संपर्क
उपायुक्त कांगड़ा के कोरोना संपर्क में आने के बाद उनके साथ मिलने वाले लोगों की सूची तैयार की जा रही है। हाल ही में उपायुक्त कांगड़ा के कार्यक्रमों तथा कार्यालय में पहुंचे लोगों की सूची के अनुसार वह करीब 100 लोगों के संपर्क में आए थे। बीते 1 सप्ताह में जिलाधीश कांगड़ा ने शहरी विकास मंत्री के साथ बैठक करने के साथ-साथ शहरी निकायों के आरक्षण की प्रक्रिया में भाग लिया है। चामुंडा नंदिकेश्वर धाम में हुई ट्रस्ट की बैठक में सांसद किशन कपूर, विधायक विशाल नेहरिया के साथ भाग लिया है। कांगड़ा हवाई अड्डे के विस्तार को लेकर राजस्व अधिकारियों के साथ बैठक की है। प्लानिंग विभाग के अधिकारियों से बैठक की है। जिलाधीश के सबसे नजदीक में ही करीब 100 के करीब कर्मचारी हैं जो सीधे तौर पर उनके संपर्क में आए हैं।

डी.सी. ऑफिस के 14 कर्मचारियों के सैंपल नेगेटिव
एस.डी.एम. धर्मशाला डा. हरीश गज्जू ने बताया कि मंगलवार को डीसी कार्यालय को सेनिटाइज किया गया है। इसके साथ ही मंगलवार को उपायुक्त कार्यालय के 14 कर्मचारियों के सैंपल जांच को लिए गए थे। इन सभी कर्मचारियों के सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वहीं, जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी हाल ही में उपायुक्त के संपर्क में आने वाले लोगों को होम क्वारंटाइन का आह्वान किया जा रहा है। यदि किसी व्यक्ति में लक्षण पाए जाते हैं तो वह स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करे।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...