ऊना: कृषि विधेयक के विरुद्ध युवा कांग्रेस ने बोला हल्ला, निकाली ट्रैक्टर रैली





कृषि विधेयक के खिलाफ विपक्ष का रोष थमने का नाम नहीं ले रहा है। कृषि विधेयक के खिलाफ आज ऊना में युवा कांग्रेस ने ट्रैक्टर रैली निकालकर केंद्र सरकार के विरुद्ध जमकर हल्ला बोला। युवा कांग्रेस के इस रोष प्रदर्शन की अगुवाई युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मुनीश ठाकुर ने की, जबकि युवा कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दमन वाजवा और जगदीप गागा ने विशेष रूप से शिरकत की। इस दौरान युंका कार्यकर्ताओं ने ट्रैक्टरों पर सवार होकर रक्कड़ कॉलोनी से लेकर ऊना मुख्यालय तक रैली निकाली और युवा कांग्रेस के नेताओं ने जिला मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया।

कृषि सुधार विधेयक के विरोध में हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस का प्रदर्शन लगातार उग्र होता जा रहा है। शनिवार को जिला ऊना में युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मुनीष ठाकुर की अगुवाई में आक्रोश रैली निकाली। रैली में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सचिव प्रदीप सूर्या, हिमाचल युवा कांग्रेस के प्रभारी दमन बाजवा व जगदेव गागा विशेष रूप से उपस्थित रहे। युवा कांग्रेस की प्रदेश स्तरीय आक्रोश रैली में भारी संख्या में ट्रैक्टरों ने हिस्सा लिया। रक्कड़ कॉलोनी से शुरू रैली ऊना मुख्यालय पर संपन्न हुई। रैली के दौरान युवा कांग्रेस ने किसानों के हक की आवाज उठाई, वहीं पीएम नरेंद्र मोदी व भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मुनीष ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार ने बहुत ही जल्दबाजी में कृषि विधेयक लाया है। इससे पहले भी संसद में कृषि विधेयक बिल पेश किया जाता था, लेकिन उससे पहले बिल को लेकर चर्चा की जाती थी। अलग-अलग प्रदेश के किसान नेताओं से बिल को लेकर मंथन किया जाता था। इतना ही नहीं राष्ट्रीय स्तर के किसान नेता व संगठन के साथ चर्चा की जाती थी। किसान बिल में जो भी कमियां रहती थी, उसमें बदलाव लाया जाता था। इसके उपरांत लोकसभा व राज्यसभा में बिल को पारित किया जाता था। लेकिन आज समय ऐसा आ गया है कि बिना किसानों और दोनों सदनों में चुने हुए प्रतिनिधियों से बिना चर्चा के बिल पारित किया जाता है।

मुनीष ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार अन्नदाता की कमर तोडने पर उतारू हो गई है, जिससे किसानों का भविष्य भी खतरें में आ जाएगा। किसानों के साथ-साथ हिंदूस्तान का भविष्य भी खतरें में आ जाएगा। युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष ने कृषि विधेयक को निरस्त करने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि किसानों की सुविधा के लिए गांव-गांव में मंडियों की स्थापित की जाए। मुनीष ठाकुर ने कहा कि अगर हमारी युंका की मांगों की अनदेखी हुई, तो किसानों के हित के लिए जो भी कदम उठाना होगा, तो पीछे नहीं हटेंगे।



Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...