पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार बोले, शिवसेना नेता संजय राउत की टिप्पणी बेहद शर्मनाक


सिनेमा जगत की मशहूर अदाकारा कंगना रणौत के खिलाफ की गई शिवसेना नेता संजय राउत की टिप्पणी को शांता कुमार ने बेहद शर्मनाक बताया है। भाजपा के आला नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने इस बाबत कहा है कि शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना रनौत के लिए जिन शर्मनाक शब्दों का प्रयोग किया है, उसे याद करते ही शर्म से सिर झुक जाता है।

संजय राउत को यह कहते हुए शर्म क्यों नहीं आई। शांता कुमार का कहना है कि संजय राउत के इन शब्दों को न दोहराउंगा न याद करूंगा, क्योंकि याद आ गया है कि जब एक बार महात्मा बुद्ध जा रहे थे कि कुछ विरोधी सामने आए और गालियां देने लगे। महात्मा बुद्ध  मुस्कुराने लगे, गालियां देने वाले गालियां देते थक गए। बुद्ध ने पूछा कि आपने कुछ और देना है।

 गालियां देने वालों को शर्म आई। बुद्ध ने कहा आपने जो भी दिया, मैंने उसे लिया ही नहीं। देखो मेरे कपड़े वैसे के वैसे ही साफ -सफेद हैं। ये सारी गालियां तुम्हारे ऊपर लगी हैं। शांता कुमार ने कंगना रनौत परिवार से एक बार फिर बातचीत की है तथा उनसे कहा कि बुद्ध के साथ मात्र 15-20 लोग थे, जिन्होंने उन लोगों पर गालियां फेंकीं, परंतु भारत के करोड़ों लोगों ने यह गंदगी संजय राउत पर फेंकी है।

संजय राउत का इस गंदगी से उनका मुंह तो गंदा हुआ ही, अब उस गंदगी में सिसक रहे हैं। उन्होंने कहा कि कंगना को ‘मणिकर्णिका’ से बहुत आगे जाना है। शांता कुमार ने कंगना रनौत और उसके परिवार से आग्रह किया है कि वह अभी मुंबई न जाएं। केवल  कोरोना ही नहीं, यह दूसरी बीमारी भी अभी वहां है। कंगना बेटी अभी मनाली में ही आराम करें व यह सब कुछ भूल जाए।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...