नियमित रूप से रात में केवल दो ग्लास भिन्डी का पानी पीने से यह लाभ होता है।



दोस्तों, हम अपने स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए क्या नहीं करते हैं? लोग अपने शरीर को स्वस्थ और तंदरुस्त रखने के लिए हरी सब्जियां खाते हैं और डॉक्टर भी समय-समय पर साग का सेवन करने की सलाह देते हैं। ओट्स प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, सोडियम आदि पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। आज हम आपको ओकरा के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे, क्या वाकई ओकरा के ऐसे फायदे हो सकते हैं?

दलिया रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करता है और रक्तचाप की समस्याओं का कारण नहीं बनता है। इसके अलावा यह आंतों के लिए एक फिल्टर के रूप में भी काम करता है।



ओकरा पित्त और कोलेस्ट्रॉल की समस्याओं में भी उपयोगी है, इसके अलावा यह गैस की समस्या को दूर करने में भी प्रभावी है। इसके नियमित सेवन से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।



इसके अलावा अगर आप ओटमील डाइटिया को बाहर निकालकर सुखा लेते हैं और फिर इसके पाउडर को बनाने के लिए इस ओटमील को मिक्सी में क्रश करते हैं और फिर इस पाउडर को नियमित रूप से सुबह पानी में भिगोकर इसका सेवन करते हैं ताकि आपकी डायबिटीज की समस्या को नियंत्रित किया जा सके। इसके अलावा, अगर आप भिन्डा को आगे और पीछे काटते हैं और सिर्फ पानी में भिगोते हैं और इस भिन्डी को सुबह-सुबह पानी से बाहर निकालते हैं और उस पानी का सेवन करते हैं, तो आपका ब्लड शुगर नियंत्रण में रहेगा। कच्चे दलिया में दलिया के जितने पोषक तत्व नहीं होते हैं।



इसके अलावा, ओट्स में बहुत सारा कैल्शियम होता है। यदि आप अपने दैनिक आहार में ओट्स को शामिल करते हैं, तो आपकी हड्डियाँ मजबूत बनती हैं।इससे ज्यादा मात्रा में केल्सियम मिलता है,जिससे शरीर की हड्डियां मजबूत होती है,अस्थि मज्जा को मजबूत करता है,

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...