इन आयुर्वेदिक तेलों में बालों से जुड़ी सभी समस्‍याओं का इलाज छुपा हुआ है

इन आयुर्वेदिक तेलों में बालों से जुड़ी सभी समस्‍याओं का इलाज छुपा हुआ है

क्सर लोग बालों की बहुत सारी परेशानियों से परेशान रहते है। आजकल बदलती जीवन शैली के कारण बालों का कम उम्र में सफेद हो जाना, बालो का झड़ना, डेंड्रफ वगैरह वगैरह। आर्युवेद में कई ऐसे तेल है जो इन सभी समस्याओं को जल्दी ठीक कर देते है। आयुर्वेदिक तेल सिर में जा कर बालों की जड़ों को मजबूत करने का काम करते है। तो आइये जानते है इन तेलों के बारे में…..

भृंगराज तेल –

भृंगराज को आयुर्वेद में बालों के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। इसे बालों का राजा कहा जाता है। रोजाना भृंगराज तेल से बालों में मालिश करने से बाल काले और घने होते हैं। इससे बालों का झड़ना बंद हो जाता है। इसे लगाने से बालों में रुसी भी कम होती है। यह सिर को ठंडक भी पहुंचाता है।

भृंगराज तेल बनाने की विधि

सबसे पहले आप भृंगराज के पत्तों का रस निकाल लें और उसमें उतनी ही मात्रा में नारियल का तेल मिलाकर धीमी आंच पर थोड़ी देर के लिए रख दें। केवल तेल रह जाए तो उसे उतार कर ठंडा कर लें। अगर धीमी आंच पर रखने से पहले आंवले का रस मिला लिया जाए तो तेल और भी अच्छा बनता है। इसके अलावा अगर बालों में रूसी हो या फिर बाल झड़ते हों तो इसके पत्तों का रस 15-20 मिलीग्राम लें। इस तेल का प्रयोग काफी फायदेमंद होता है।

गुडहल का तेल –

गुडहल के तेल को लगाने से बाल काले और सुंदर हो जाते हैं। साथ ही यह तेल असमय सफेद बालों को बचाता है और उसमें ब्‍लैक शाइन लाता है। इसके अलावा गुडहल का तेल बालों को पतला होने और झड़ने से भी रोकता है।

गुडहल का तेल बनाने का उपाय

इसके लिए 3 से 4 गुड़हल के फूल और मुठ्ठीभर पत्तियां, एक चम्‍मच मेथी दाना और लगभग 250 ग्राम नारियल के तेल की जरूरत होती है। तेल बनाने के लिए सबसे पहले गुड़हल के फूल और पत्तियों को मिक्‍सी में पीसकर पेस्‍ट बना लें। फिर इसे एक बर्तन में लेकर इस पेस्‍ट में नारियल का तेल मिलाकर गर्म करें। इस पेस्‍ट को लगातार चलाते रहें। फिर इसमें मेथी दाना डालकर एक मिनट के लिए गर्म करें। ठंडा होने पर तेल को बोतल में भर लें। तेल का प्रयोग जब भी करें, हल्‍का गर्म जरूर कर लें।

आंवले का तेल –

आंवला तेल में मौजूद विटामिन सी और आयरन, कैल्शियम, फॉस्‍फोरस जैसे पोषक तत्‍व बालों और स्कैल्प को हेल्दी रखने में मदद करते है। बालों के झड़ने, असमय सफेद होने और बालों की अन्‍य समस्‍याओं के लिए आंवले का तेल बहुत फायदेमंद होता है। यह बालों के लिए सबसे अच्‍छा आयुर्वेदिक उपचार है।

आंवले का तेल बनाने की विधि

इस तेल को बनाने के लिए थोड़े से आंवले लेकर उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर बारीक पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को अपने हेयर ऑयल या फिर नारियल के तेल में मिलाकर बोतल के ढक्‍कन को कस के बंध कर दें। आंवले के तेल को अच्‍छे से मिक्‍स होने के लिए एक हफ्ते का समय लगेगा।एक हफ्ते के बाद तेल को छानकर किसी साफ बोतल में भर लें। इस तेल को आप अपने बालों में हफ्ते में एक या दो बार जरूर लगाएं। अपनी उंगलियों के पोरों को सिर पर हल्के-हल्के घुमाते हुए तेल लगाये। सिर धोने से 40 मिनट पहले यह तेल लगाएं।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...