नाले में फंसी पिकअप हादसा होते-होते टला

नाले में फंसी पिकअप हादसा होते-होते टला

सलूणी-लचोड़ी-तेलका मार्ग पर मकड़ोगा नाले में सोमवार को हादसा होते-होते टल गया। नाले में कीचड़ और गडढों के चलते लोड पिकअप का एक टायर हवा में हो गया। पिकअप को हवा में होता देख मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने धक्का लगा कर गाड़ी को गड्ढे से बाहर निकाला। संतोष ठाकुर, ओमी, राजू, कुलदीप, रविंद्र, अमित, अमर सिंह, सुरेश, हंसराज, कमल, राकेश व दीपराज ने बताया कि इस नाले में पुलिया का निर्माण होना है। दो साल पहले टेंडर भी हो चुका है, लेकिन काम अभी तक शुरू नही हुआ। इससे पहले 26 जुलाई को भी एक आल्टो कार नाले में गिर चुकी है। उन्होंने बताया कि पुलिया के निर्माण कार्य की मांग को लेकर पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन व एसडीओ से भी मुलाकात कर चुके हैं। उन्होंने जल्द नाले पर पुलिया का निर्माण कार्य करवाकर भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुर्नावृत्ति की संभावना को शून्य करने की मांग उठाई है।

ठेकेदार को ठोंका तीस हजार का जुर्माना

चंबा-लोक निर्माण विभाग चंबा मंडल ने विकास कायर्ोें को बेवजह लटकाने को लेकर ठेकेदार को तीस हजार रुपए की पेनल्टी ठोंकी है। इसके साथ ही ठेकेदार के काम को भी रद्द कर दिया गया है। इस विकास कार्यों को लेकर लोक निर्माण विभाग ने नए सिरे से टेंडर प्रक्रिया भी मकम्मल कर ली है। लोक निर्माण विभाग की इस कार्रवाई से लेटलतीफ ठेकेदारों में हडकंप मच गया है। लोक निर्माण विभाग चंबा मंडल के एक्सईएन जीत सिंह ठाकुर ने खबर की पुष्टि की है। साहो के देहरा-मढी-कौंसी मार्ग पर डंगे का कार्य ठेकेदार को आबंटित किया गया था। मगर ठेकेदार ने निर्धारित अवधि में काम आरंभ करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।

लोक निर्माण विभाग की ओर से जारी नोटिसों को भी ठेकेदार ने हल्के से लिया। ठेकेदार के इस रवैये को देखते हुए लोक निर्माण विभाग ने ठेकेदार को तीस हजार रुपए की पेनल्टी लगाते हुए आबंटित काम को भी रद्द कर दिया। इसके साथ ही लोक निर्माण विभाग ने मंडल के अधीन विभिन्न विकास कार्यों का ठेका हासिल कर काम न आरंभ करने वाले कई ओर ठेकेदारों को भी रेड सिग्नल दिखाया है। ठेकेदारों को जल्द विकास कार्यो को आरंभ कर कंपलाइंस देने को कहा है।

उधर, लोक निर्माण विभाग चंबा मंडल के एक्सईएन जीत सिंह ठाकुर ने बताया कि देहरा-मढी-कौंसी मार्ग पर डंगे का निर्धारित अवधि में काम आरंभ न करने पर ठेकेदार को तीस हजार रुपए की पेनल्टी लगाई है। उन्होंने बताया कि बेवजह विकास कार्यों को लटकाने वाले ठेकेदारों को भी चेतावनी जारी की गई है। बहरहाल, लोक निर्माण विभाग ने लेटलतीफ  ठेकेदार को तीस हजार रुपए की पेनल्टी ठोंकते हुए आबंटित काम रदद कर दिया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...