सुबह की धूप फायदेमंद होती है कुछ देर लेने से दूर हो जाती है स्वास्थ्य से संबंधित ये परेशानियां

सुबह की धूप फायदेमंद होती है कुछ देर लेने से दूर हो जाती है स्वास्थ्य से संबंधित ये परेशानियां

सुबह की हल्की धूप भला किसे अच्छी नहीं लगती लेकिन कामकाज के लिए घर से निकलने की जल्दी के चलते लोग फुर्सत से सुबह की धूप में कुछ देर बैठ भी नहीं पाते हैं। लेकिन हर रोज थोड़ा सा समय निकालकर सुबह के वक्त सूर्य की रोशनी में बैठने पर स्वास्थ्य से संबंधित कई परेशानियां दूर हो जाती हैं। विशेषज्ञों के अनुसार रोज थोड़ी देर सूर्य की रोशनी में बैठने से शरीर के साथ-साथ दिमाग भी स्वस्थ रहता है और यही शरीर को फिट रखने का सबसे आसान तरीका भी है। आइए आज हम आपको बताने जा रहे हैं सुबह की हल्की धूप में बैठना आपके लिए कितना फायदेमंद हो सकता है….

-सूरज की रोशनी में ऐसे चमत्कारी गुण होते हैं, जिनके कारण शरीर पर विभिन्न प्रकार के इन्फेक्शंस के असर की आशंका कम हो जाती है। इससे शरीर की इम्यूनिटी मजबूत होती है। धूप के सेवन से शरीर में WBC का पर्याप्त निर्माण होता है जो रोग पैदा करने वाले कारकों से लड़ने का काम करते हैं।

– अगर आप प्रतिदिन धूप लेते हैं तो आपके शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी होती है, जो हमारे शरीर की हड्डियों के लिए बहुत जरुरी है। विटामिन डी से हड्डियां मजबूत होती हैं। धूप लेने से आप जोड़ों से संबंधित रोगों से बच सकते हैं।

– सूरज की किरणों से शरीर को कैंसर से लड़ने वाले तत्व मिलते हैं। इससे कैंसर का खतरा टलता है तो जिन्हें कैंसर है उन्हें भी लाभ होता है।

– शरीर में होने वाली आयरन की कमी, थकान आदि में भी सूरज की किरणें फायदेमंद होती हैं। रोजाना धूप लेने से कमजोरी, मांसपेशियों के दर्द, कैंसर और टीबी आदि रोगों से बचा जा सकता है। लेकिन धूप लेते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

– गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चों को सुबह की धूप जरुर लेनी चाहिए। ये गर्भवती महिलाओं को एनिमिया जैसे रोगों से बचाता है। सूरज की किरणों की सेंक लेने से शरीर में रक्त संचार बेहतर होता है।

– सुबह की सूरज की किरणें ज्यादा फायदेमंद होती हैं। दोपहर में धूप नहीं लेनी चाहिए, क्योंकि इस समय धूप भी बहुत तेज होती है, जिससे आपको चक्कर आ सकते हैं। तेज धूप के कारण आपकी त्वचा झुलस सकती है। अगर आपको गर्मी लग रही है या पसीना आ रहा है तो ज्यादा देर तक धूप में नहीं बैठना चाहिए।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...