ये रसोई घर की छोटी सी चीज पायरिया,अस्थमा और कई स्किन की बीमारियों का काल है


ये रसोई घर की छोटी सी चीज पायरिया,अस्थमा और कई स्किन की बीमारियों का काल है

अक्सर लोग अस्थमा और पायरिया जैसी बीमारियों को सही करने के लिए कई तरह की दवाइयों का इस्तेमाल करते हैऔर इसके लिए वो पानी की तरह पैसे को बहा देते है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे उपाय के बारे में बताने जा रहे है जिसको करने से पायरिया और अस्थमा जैसी बीमारिया तुरंत ठीक हो जाती है और इसके लिए आपको पैसे की भी जरूरत नहीं होगी। किचन के अलावा हमारे घरों में सरसों के तेल को औषधि के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। इसके तेल में कई पोषक तत्व होते हैं इसलिए ये कई रोगों में भी काम आता है।

अस्थमा और साइनस में फायदेमंद – सरसों के तेल में मैग्नीशियम और सेलेनियम की मात्रा भरपूर होती है इसलिए ये अस्थमा के रोगियों के लिए एक बेहतरीन प्राकृतिक उपचार है।

कैसे करे इस्तेमाल –अस्थमा के दौरे में सरसों के तेल से छाती में मालिश करने पर आराम मिलता है।

स्किन होठों के लिए – सरसों का तेल स्किन के लिए फायदेमंद है। इसके पोषक तत्वों से त्वचा को पोषण मिलता है और त्वचा में चमक आती है। इसके अलावा सरसों का तेल होठ फटने पर भी ठीक करता है।

कैसे करे इतेमाल –अगर आप के होठ फट रहे हैं तो रात को सोने से पहले दो बूंद सरसों का तेल नाभि में लगाएं, सुबह तक होठ मुलायम हो जाएंगे। सरसों का तेल त्वचा के लिए मॉश्चराइजर का भी काम करता है।

दांत के दर्द और पायरिया में – सरसों का तेल दांतों के दर्द और पायरिया में भी उपयोगी माना जाता है।

कैसे करे इस्तेमाल -दांत में दर्द होने पर सरसों के तेल को दर्द वाली जगह पर लगाने से दर्द में राहत मिलेगी। अगर आपको पायरिया है तो सरसों के तेल में थोड़ा सा नमक मिलाकर रोज इससे मंजन करें। थोड़े दिन में आपका पायरिया ठीक हो जाएगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...